ALL political social sports other crime current religious administrative
एएसपी के संस्थापक चन्द्रशेखर आजार के काफिले को रोका,
May 30, 2020 • Sharwan kumar jha • current

एसएसपी के हस्तक्षेप के बाद गाड़ियों को कम करने के बाद रवाना

हरिद्वार। आजाद समाज पार्टी(एएसपी) के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद और उनके कार्यकर्ताओं को बहादराबाद पुलिस ने बस स्टैंड बहादराबाद पर रोक लिया। एसएसपी सैंथिल अबुदई   कृष्ण राजएस के हस्तक्षेप के बाद उन्हें जाने दिया गया। शनिवार दोपहर चंद्रशेखर आजाद नमामि गंगे घाट हरिद्वार जा रहे थे। गाड़ियों का काफिला अधिक होने और पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा उनका अभिनंदन करने के कारण पुलिस ने उन्हें बहादराबाद चैकी बाजार के पास रोक लिया। बाजार चैकी इंचार्ज रंजीत सिंह तोमर ने पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच कर काफिले को रोक लिया। पुलिस ने लॉकडाउन और समय की नजाकत देखते हुए उन्हें आगे जाने देने से साफ इंकार कर दिया। पार्टी प्रदेश अध्यक्ष महक सिंह ने एसएसपी से फोन पर बात करके सोशल डिस्टेसिंग का पालन करने पर जाने की अनुमति मांगी। पुलिस कप्तान से वार्ता के बाद बहादराबाद, सलेमपुर के कार्यकर्ताओं को वापस भेज दिया गया। आजाद समाज पार्टी(एएसपी) के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद ने कहा कि वह सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए हरिद्वार नमामि गंगे घाट पर धार्मिक स्थल पर दर्शन करने जा रहे हैं। घाट पर स्थापित संत रविदास ओर मीराबाई की प्रतिमा असमाजिक तत्वों ने खंडित कर गंगा में फेंक दी थी। थाना प्रभारी गोविंद कुमार ने बताया कि लॉकडाउन व सोशल डिस्टेसिंग का पालन करने और काफिले में गाड़ियों को कम करने के बाद ही चंद्रशेखर को आगे जाने दिया है। उन्होंने कहा कि चंद्रशेखर आजाद के साथ एक गाड़ी में पांच कार्यकर्ता मौजूद थे। इस दौरान जिलाध्यक्ष प्रमोद महाजन, जिला उपाध्यक्ष सुशील कुमार, जिला महासचिव परवेज सुल्तान, रानीपुर विधानसभा अध्यक्ष शिवकुमार, कलियर विधानसभा अध्यक्ष नीरज कुमार, रोबिन कुमार, सावेज, प्रशांत कुमार, मौसिर मालिक आदि मौजूद थे।