ALL political social sports other crime current religious administrative
430 प्रवासियों को उनके गृह जनपदों के लिए किया रवाना
May 11, 2020 • Sharwan kumar jha • social

हरिद्वार। कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आने से बचने के चलते किए गये देशव्यापी लाॅकडाउन के बीच भोजन की समस्या का सामना कर रहे गरीबों, मजदूरों की मदद में प्रेमनगर आश्रम लगातार उल्लेखनीय भूमिका निभा रहा है। विभिन्न राज्यों से लाए जा रहे उत्तराखण्ड के प्रवासी मजदूरों को भोजन व आश्रय भी प्रेमनगर आश्रम की ओर से उपलब्ध कराया जा रहा है। लाॅकडाउन के तीसरे चरण में विभिन्न प्रदेशों में काम करने वाले उत्तराखण्ड के मजदूरों को वापस लाया जा रहा हे। वापस लौट रहे श्रमिकों को प्रेमनगर आश्रम में ठहराया जा रहा है। जहां उनकी स्क्रीनिंग आदि करने के बाद उनके जिलों के लिए रवाना किया जा रहा है। सोमवार को रूद्रप्रयास, चमोली, पौड़ी, अल्मोड़ा, बागेश्वर, चंपावत, उत्तरकाशी, टिहरी आदि जनपदों के 430 प्रवासी मजदूरों को बसों से उनके घर भेजा गया। आश्रम के प्रबंधक पवन शर्मा, मंत्री रमणीक भाई, नरेश कुमार, शंकरलाल शर्मा, सुशांत पाल, सुनील प्रजापति आदि ने बसों को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। प्रबंधक पवन शर्मा ने बताया कि कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज के निर्देशों पर आश्रम में ठहराए जा रहे सभी श्रमिकों को नाश्ता, भोजन आदि की व्यवस्था की जा रही है। सुशांतपाल, सुनील प्रजापति ने श्रमिकों को यात्रा की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि कोरोना वायरस की वजह से किए गए लाॅकडाउन में विभिन्न प्रदेशों में फंसे उत्तराखण्ड के मजदूरों की परेशानियों को देखते हुए सरकार उन्हें वापस ला रही है। आश्रम में ठहराए गए सभी मजदूरों का अच्छी तरह से ख्याल रखा जा रहा है।