ALL political social sports other crime current religious administrative
आॅनलाईन शिक्षा प्रणाली में सुधार,स्कूलों की मनमानी रोकने आदि मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा
August 6, 2020 • Sharwan kumar jha • other

हरिद्वार। कमल मिश्रा- स्कूलों में चल रही ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली मैं सुधार, निजी स्कूलों की मनमानी पर रोक एवं मुफ्त में इंटरनेट सुविधा हेतु सुराज सेवा दल का एक प्रतिनिधित्व प्रदेश अध्यक्ष रमेश जोशी की अध्यक्षता में मुख्य शिक्षा अधिकारी से मिला और अग्र लिखित बिंदुओं के संबंध में ज्ञापन दिया। मुख्य शिक्षा अधिकारी आनंद भारद्वाज को ज्ञापन देते हुए प्रदेश अध्यक्ष रमेश जोशी ने बताया कि कोविड-19 के कारण स्कूलों मैं ऑनलाइन पढ़ाई कराई जा रही है। लेकिन सभी परिवार के छात्र छात्रा ऑनलाइन शिक्षा हेतु सक्षम नहीं है एक तो सभी छात्र छात्राओं के परिजन पढ़े-लिखे भी नहीं है और ना ही उनके पास एंड्राइड मोबाइल की सुविधा है जिस कारण ऐसे परिवार के बच्चों को ऑनलाइन शिक्षा का लाभ नहीं मिल पा रहा है साथ ही उन्होंने बताया कि नेटवर्क की कमी के कारण कई बार पढ़ाई के दौरान अध्यापकों को छात्र छात्राओं का कम्युनिकेशन ठीक ढंग से नहीं हो पाता है जिस कारण पढ़ाई में व्यवधान उत्पन्न होता है। जिला शिक्षा अधिकारी को बताया की निजी स्कूलों के प्रबंध तंत्र अपने लाभ के लिए लॉकडाउन के दौरान की फीस के लिए परिवार जनों पर दबाव बना रहे हैं जबकि सरकार ने आदेश दिया था की लॉकडाउन के समय फीस न ली जाए।रमेश जोशी ने बताया ने बताया कि अगर प्रबंध तंत्र ऑनलाइन शिक्षा हेतु फीस लेता है तो उचित फीस ले और साथ ही मुफ्त में इंटरनेट की सुविधा प्रत्येक परिवार जनों को मुफ्त में दे या फिर उसकी फीस में कटौती करें रमेश जोशी ने मुख्य शिक्षा अधिकारी के माध्यम से सरकार से कहा की सरकार को ऑनलाइन शिक्षा प्रणाली लागू करनी है तो उसके लिए विद्यार्थियों को अच्छे मोबाइल क्या लैपटॉप की मुफ्त में सुविधा प्रदान करें अगर शिक्षा प्रणाली मैं सुधार एवं निजी स्कूलों की मनमानी रुकने में नाकाम रहती है तो स्वराज सेवादल इसके लिए जगह जगह विरोध प्रदर्शन एवं जेल भरो आंदोलन करने पर मजबूर होगा ज्ञापन देने में मुख्य रूप से जिला अध्यक्ष चंद्र प्रकाश जोशी उपाध्यक्ष राजकुमार सिंह लता शर्मा अंकुर शर्मा पंडित  कात्यान आदि मौजूद रहे मुख्य शिक्षा अधिकारी ने आश्वासन देते हुए कहां की इस संबंध में शीघ्र ही उचित कार्यवाही की जाएगी।