ALL political social sports other crime current religious administrative
आप कार्यकत्र्ताओं ने राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजकर की कृषि बिल को वापस भेजने की मांग
September 24, 2020 • Sharwan kumar jha • political

हरिद्वार। आम आदमी पार्टी कार्यकर्ताओं ने जिला सचिव एवं हरिद्वार विधानसभा प्रभारी अनिल सती के नेतृत्व में सिटी मजिस्ट्रेट के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन प्रेषित कर कृषि बिल को वापस लेने की मांग की। इस दौरान अनिल सती ने कहा कि किसानों व विपक्ष की आवाज को अनसुनी कर केंद्र सरकार ने पूंजीपतियों के दवाब में किसान विरोधी बिल को पास किया है। राज्यसभा में भाजपा के पास बहुमत नहीं होने के बावजूद असंवैधानिक तरीके से किसान विरोधी बिल पास किया गया। जिसको लेकर पूरे देश के किसानों में गुस्सा है। आम आदमी पार्टी किसानों के साथ खड़ी है। किसानों की आवाज उठाने के लिए पूरे देश में आप कार्यकर्ता विरोध दिवस मना रहे हैं। किसानों द्वारा 25 सितम्बर को बुलाए गए भारत बंद के आहवान को भी आम आदमी पार्टी पूरा समर्थन देती है। उन्होंने कहा कि राज्यसभा में सरकार ने बहुमत के अभाव के बावजूद जिस प्रकार बिल पास कराए उससे लोकतंत्र को भारी धक्का लगा है। विपक्ष के मांग करने के बावजूद बिल पर मतदान नहीं कराया गया। जिससे साफ हो गया है कि सरकार के पास राज्यसभा में बिल के पक्ष में बहुमत नहीं था। जिला अध्यक्ष हेमा भण्डारी ने कहा कि उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए पास किए गए किसान विरोधी बिलों को लागू नहीं होने दिया जाएगा। किसानों से बात किए बिना तैयार किए गए बिल का जब किसान विरोध कर रहे हैं तो सरकार की उनकी बात सुनने के बजाए उन पर लाठी चार्ज करा रही है। ज्ञापन देने वालो में अनिल सती, पवन कुमार, यशपाल सिंह चैहान, शिशुपाल सिंह नेगी, रघुवीर सिंह पंवार, अर्जुन भण्डारी, संजू नारंग, अनिल कुमार, तनुज शर्मा और कार्तिक चंदेल उपस्थित रहे।