ALL political social sports other crime current religious administrative
आर्थिक मदद सहित 17सूत्रीय मांगो को लेकर अधिवक्ता का अनशन
June 22, 2020 • Sharwan kumar jha • current

हरिद्वार।  कोरोना काल के दौरान आथिक मदद सहित विभिन्न मांगो को लेकर अधिक्ताओं ने सोमवार को कचहरी परिसर में अनशन शुरू कर दिया। अनशन का दो अन्य सगठनां ने समर्थन किया। इस दौरान कहा गया कि कोरोना महामारी के चलते तीन माह से कोर्ट बंद पड़ी हुई है। जिससे कई वकीलों को भारी आर्थिक संकट से गुजरना पड़ रहा है। वकीलों ने प्रदेश सरकार को ज्ञापन भेजकर पहले ही आर्थिक सहायता व कोर्ट कार्यवाही की मांग की थी। मांग पूरी करने की अवधि रविवार को खत्म हो गई थी। सोमवार को रोशनाबाद कचहरी परिसर में वरिष्ठ अधिवक्ता संजीव कुमार वर्मा, पूर्व बार संघ अध्यक्ष सुशील कुमार ने 17 सूत्रीय मांगों को लेकर आमरण अनशन पर बैठे। बीते बुधवार को अधिवक्ता संजीव कुमार वर्मा ने जिला जज,डीएम व स्थानीय स्तर पर ऑनलाइन पत्र भेजकर अधिवक्ता संघ के परिसर में अनशन शुरू करने के लिए परमिशन देने की मांग की थी। उन्होंने कहा कि सरकारी कर्मचारी बिना ड्यूटी के घर पर वेतन ले रहे हैं। जबकि समाज का एक बुद्धिजीवी वर्ग कोर्ट बंद होने से घर में चुपचाप बैठा हुआ है। उन्होंने कहा कि अधिवक्ता वर्ग दैनिक आय पर निर्भर होता है। लेकिन तीन माह से कोर्ट में न्यायिक कार्य बंद व लॉक डाउन के चलते भारी आर्थिक संकट झेलना पड़ रहा है। कहा कि देश में लाखों सरकारी व गैर सरकारी एनकंजीओ है। इन्होंने भी अधिवक्ता वर्ग की कोई सुध नहीं ली। जिस पर वरिष्ठ अधिवक्ता संजीव कुमार वर्मा ने जरूरतमंद वकीलों की परेशानी को देखते हुए ैअधिवक्ता साथियों के साथ अनिश्चित कालीन आमरण अनशन शुरू करने की घोषणा की थी। इस बारे में उन्होंने जिला जज,जिलाधिकारी व स्थानीय स्तर पर एक पत्र ऑनलाइन भेजकर लॉक डाउन का पालन करते हुए रोशनाबाद अधिवक्ता परिसर में आमरण अनशन शुरू करने की बात कही। यही नहीं, उन्होंने चार दिन की अवधि में पीड़ित वकीलों को आर्थिक सहायता नही मिलने पर सोमवार से आमरण अनशन शुरू करने की चेतावनी दी थी। सोमवार को अनशन स्थल पर वरिष्ठ वकील विजय कुमार शर्मा, मुहम्मद हनीफ,जगदीप शर्मा, एसके भामा,चैधरी वीरेंद्र प्रताप सिंह, मोतीलाल कौशल, अशोक कश्यप, मोहम्मद यूनुस, राव फरमान अली,जसविंदर गिल,उस्मान आरिफ,गोपाल चतुर्वेदी, उमादत्त कश्यप,सुमित कुमार, दिनेश गौतम,सुधांशु द्विवेदी, अखिल बोहरा, राजीव तोमर, धर्मवीर सिंह व सुमित अरोड़ा ने पहुंचकर समर्थन किया। दूसरी ओर उत्तराखंड रक्षा अभियान के संयोजक स्वामी दर्शन भारती ने वकीलों की मांगो को उचित ठहराते हुए समर्थन दिया। भारतीय किसान यूनियन टिकैत गुट के प्रदेश महासचिव चन्द्र कुंवर सिंह व उनके साथियों ने अनशन स्थल पर पहुंचकर अभियान को सफल बनाने के लिए भरपूर समर्थन देने का विश्वास दिलाया।