ALL political social sports other crime current religious administrative
आस्था का केंद्र बिन्दु हैं मठ मंदिर-श्रीमहंत रविन्द्रपुरी
June 8, 2020 • Sharwan kumar jha • religious

हरिद्वार। केंद्र सरकार के मठ मंदिर खोले जाने के फैसले के बाद प्रातःकाल में मां मंशा देवी मंदिर पूर्ण विधि विधान के साथ खोला गया। मंदिर खुलने पर मां मंशा देवी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज ने मां की आरती कर विश्व कल्याण की कामना की। इस दौरान मां मंशा देवी का विशेष श्रंगार कर छप्पन प्रकार का भोग लगाया गया। श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज ने कहा कि भारत ऋषि मुनियों की तपस्थली है और मठ मंदिर हमारी आस्था का केंद्र बिन्दु है। मठ मंदिर खोले जाने पर हरिद्वार के संतो व सनातन प्रेमियों में हर्ष का माहौल है। परंतु सतर्कता ही बचाव है। सभी को सरकार के नियमों का पालन करते हुए सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मंदिरों में दर्शन करने होंगे। नियमों के अनुरूप मंशा देवी मंदिर में सोशल डिस्टेंसिंग, थर्मल स्क्रीनिंग तथा सेनेटाइजिंग की व्यवस्था की गयी है। श्रीमहंत रविन्दुपुरी महाराज ने कहा कि सरकार को अब देश की सीमाओं पर स्थित बार्डर खोल देने चाहिए। पूर्ण रूप से आवागमन होने के बाद ही धार्मिक स्थलों को आर्थिक लाभ प्राप्त होगा। श्रद्धालुओं का आगमन ही नहीं होगा तो मठ मंदिर खोला जाना व्यर्थ है। श्रीमहंत रविन्द्रपुरी महाराज ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करते हुए कहा कि मां मंशा देवी व गंगा मैय्या की कृपा से वे शीघ्र स्वस्थ होकर जनता की सेवा करेंगे। इस अवसर पर मां मंशा देवी मंदिर के ट्रस्टी प्रदीप शर्मा, अनिल शर्मा, निरंजनी अखाड़े के सचिव श्रीमहंत श्रीमहंत रामरतन गिरी, महंत लखन गिरी, महंत डोगर गिरी, स्वामी मधुरवन, स्वामी रघुवन, स्वामी धनंजय गिरी, स्वामी राजगिरी, एसएमजेएन कालेज के प्राचार्य डा.सुनील कुमार बत्रा, प्रतीक सूरी आदि मौजूद रहे।