ALL political social sports other crime current
अखाड़े के सामने से कूड़ा नही उठाने पर संतो ने जताई नाराजगी
March 23, 2020 • Sharwan kumar jha

हरिद्वार। श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल के संतों ने अखाड़े के गेट से 10 दिन से कूड़ा ना उठाए जाने पर गहरी नाराजगी जताई। कोठारी महंत जसविन्दर सिंह ने कहा कि बार बार स्थानीय पार्षद और नगर निगम के अधिकारियों को सूचित करने के बाद भी अखाड़े के गेट के सामने से कूड़ा नही उठाया जा रहा है। कोरोना वायरस का प्रकोप बना हुआ है। नगर निगम के अधिकारियों व कर्मचारियों को लाॅकडाऊन के पश्चात शहर की व्यवस्थाओं को लागू कराने के आदेश दिए गए हैं। ऐसे में शहर की सड़कों से गंदगी से मुक्त किया जाना चाहिए। निर्मल अखाड़े के मुख्य गेट के पास हफ्तों से कूड़ा पड़ा हुआ है। लेकिन कर्मचारी इस और कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं। शहर की सड़कों को व आसपास के क्षेत्रों को सेनेटाइज किया जाना चाहिए। जिससे कोरोना के खतरे को कम किया जा सके। उन्होंने कहा कि संक्रमित बीमारियां गंदगी के कारण फैलती हैं। उन्होंने कहा कि नगर निगम को वृहद स्तर कनखल क्षेत्र में फागिंग अभियान भी चलाना चाहिए। महंत अमनदीप सिंह व महंत खेमसिंह ने कहा कि नगर निगम कनखल क्षेत्र की सफाई व्यवस्था को लेकर गंभीरता नहीं दिखा रहा है। उन्होंने कहा कि लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं। उसके बावजूद भी सड़कों की सफाई व्यवस्था नहीं होना नगर निगम की लचर कार्यप्रणाली को दर्शाता है। कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए नगर निगम के अधिकारियों को अतिरिक्त सफाई कर्मचारी लगाकर शहर की सड़कों को सेनेटाइज करना चाहिए। जिससे लोगों को राहत मिल सके। इस दौरान महंत हरभजन सिंह, महंत निर्मल सिंह, संत सुखमन सिंह, संत जसकरण सिंह, संत तलविन्दर सिंह, संत आशा सिंह, संत सिमरन सिंह, संत विष्णु सिंह, संत रोहित सिंह, संत झण्डा सिंह आदि उपस्थित रहे।