अण्डर पास निर्माण में रिटेनिंग वाॅल के बजाए पिलर निर्माण को लेकर डीएम को सौंपा पत्र
March 2, 2020 • Sharwan kumar jha

हरिद्वार। उत्तरी हरिद्वार भूपतवाला क्षेत्र में एनएचएआई द्वारा पावन धाम-सप्त सरोवर मार्ग को लिंक करने के लिए अण्डर पास निर्माण के निर्माण हेतु रिटेनिंग वाॅल का कार्य प्रारम्भ किये जाने से आक्रोशित सैकड़ों क्षेत्रवासियों ने क्षेत्रीय पार्षद अनिरूद्ध भाटी के नेतृत्व में जिला अधिकारी से भेंट कर रिटेनिंग वाॅल के स्थान पर पिलर के माध्यम से अण्डर पास निर्माण करने की मांग की। जिला अधिकारी से वार्ता करते हुए क्षेत्रीय पार्षद अनिरूद्ध भाटी ने कहा कि एनएचएआई ने बिना सर्वे किये डूब क्षेत्र में जिस प्रकार लगभग 800 मीटर लम्बी रिटेनिंग वाॅल का निर्माण कार्य प्रारम्भ किया है, यह दीवार उत्तरी हरिद्वार के लिए भविष्य में भारी परेशानी का सबब बन सकती है। उन्होंने कहा कि मोतीचूर, हरिपुर कलां, सप्त सरोवर मार्ग से आने वाला बरसाती पानी इसी क्षेत्र से गुजरता हुआ गंगाजी में समाहित होता है। इस रिटेनिंग वाॅल के निर्माण से भूपतवाला के मुखिया गली, दुर्गानगर, कमल दास कुटिया, पावन धाम मार्ग, शिवनगर, रानी गली, मस्त राम गली, सप्तऋषि मार्ग में भीषण जल भराव की समस्या उत्पन्न हो सकती है। व्यापार मण्डल के जिला अध्यक्ष सुरेश गुलाटी ने कहा कि पावन धाम तिराहे से लेकर शांतिकुंज तक जिस प्रकार अण्डर पास निर्माण में रिटेनिंग वाॅल का प्रयोग किया जा रहा है उससे क्षेत्र के सैकड़ों दुकानदारों के समक्ष रोजी-रोटी का संकट उत्पन्न हो गया है। इस संदर्भ में जिला प्रशासन को हस्तक्षेप करते हुए एनएचएआई को डिजाइन बदलने के लिए निर्देशित करना चाहिए। व्यापार मण्डल के शहर अध्यक्ष कमल बृजवासी ने कहा कि एनएचएआई के अधिकारियों ने जिस प्रकार बिना सर्वे किये पिलर के स्थान पर रिटेनिंग वाॅल का निर्माण प्रारम्भ कर दिया है उससे निश्चित रूप से जहां स्थानीय दुकानदारों का व्यापार चैपट हो जायेगा। पार्षद विनित जौली ने कहा कि क्षेत्रवासियों की परेशानी के दृष्टिगत जिला प्रशासन को एनएचएआई की नकेल कसनी होगी। जिला अधिकारी सी. रविशंकर ने प्रतिनिधि मण्डल की बातों को गंभीरता से सुनकर शीघ्र कार्रवाई का आश्वासन देते हुए एसडीएम की अध्यक्षता में अधिकारियों की चार सदस्यीय कमेटी गठित करने के निर्देश दिये। इस कमेटी में एसडीएम समेत वन विभाग, एनएचएआई व पीडब्लूडी के अधिकारियों को शामिल किया गया है। यह कमेटी क्षेत्रीय पार्षदों, व्यापार मण्डल के पदाधिकारियों को साथ लेकर तीन दिन के भीतर तकनीकी जांच कर अपनी रिपोर्ट जिलाधिकारी को देगी। उसी के अनुरूप भविष्य की कार्रवाई की जायेगी। इस अवसर पर व्यापारी नेता मृदुल कौशिक, सूर्यकान्त शर्मा, राहुल चैधरी, मुकेश महंत, आदर्श पाण्डे, विजय पाल, अमरपाल प्रजापति, रूपेश शर्मा, संदीप गोस्वामी, अनुपम त्यागी, महावीर सैनी, राकेश कुमार, नागेन्द्र अग्रवाल, हरपाल धीमान, नीरज शर्मा, कमल पटेल, ओमप्रकाश ठाकुर, महंत नरेशानन्द, ओमप्रकाश पाल, सुनील कुमार, प्रमोद, अर्जुन, सोनू, मुकेश कुमार, कालीचरण, महंत दिव्यांश, विक्की प्रजापति, पंकज प्रजापति, प्रकाश केशव, अम्बूराम प्रजापति, पप्पू यादव, राजकुमार पाल, गगन यादव, सुखेन्द्र तोमर, विपिन शर्मा, मांधाता गिरि, रमाकांत शर्मा, विवेक, आदित्य यादव, सुनील सैनी, भागीरथ प्रजापति, अभिषेक गोस्वामी, अंकित प्रजापति, अनिता पाल, विक्की राणा, आशु प्रजापति, रामकुमार पाल, संजय पाल, कन्नू रावत, गौरव प्रजापति, शंकर, अस्मित पाल, शस्मित पाल, प्रशांत पाल, सुनील, सुनीता, राजन निषाद, मदन निषाद, शिमला पाल, प्रिंस, संजू पाल, विक्की पाल, सूरज, आकाश, महावीर, अमरपाल प्रजापति, राकेश चैहान, विरेन्द्र चैहान, ठाकुर ओमप्रकाश सिंह, देवन्द्र चैहान, आशु आहूजा, दीपू रावत, दीपू तोमर, लक्की, रवि कुमार, शेखर, सोनू, रेखा शर्मा, मीना पाल, मिथलेश शर्मा, गायत्री प्रजापति, अनिता पाल, श्रद्धा अग्रवाल, मीनाक्षी आदि सैकड़ों क्षेत्रवासी शामिल रहे।