ALL political social sports other crime current religious administrative
बाजारों में दुकानें खुली,लेकिन ग्राहक की आमद कम,यात्रा सीजन बंद होने से रौनक नही
May 20, 2020 • Sharwan kumar jha • current

हरिद्वार। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लागू लाॅकडाउन के दौरान पूरी तरह से बाजारों के बंद होने के बाद अब लाॅकडाउन चार के दूसरे दिन तीर्थनगरी में बाजारों में रौनक लौटी,लेकिन फिलहाल बाजारों में ग्राहकों के नही होने के कारण चहल-पहल काफी कम दिखाई दिया। लाॅकडाउन का चैथा चरण शुरू होने तथा हरिद्वार जनपद को ग्रीन जोन में शामिल होने के बाद तीर्थनगरी हरिद्वार के सभी बाजार खुल गए हैं। हलांकि दुकानों के खुलने का समय सुबह सात बजे से चार बजे सायं तक का ही है। लेकिन हरिद्वार शहर में खासकर हरकी पैड़ी क्षेत्र के बाजारों को रियायत का कोई लाभ नहीं मिल रहा है। चार धाम के कपाट खुलने के साथ इस समय यात्रा सीजन चरम पर होता। लेकिन लॉकडाउन के चलते यात्रियों के धर्मनगरी न पहुंचने से बाजारों में सन्नाटा पसरा है। हरिद्वार का एक बड़ा व्यापारी वर्ग का कारोबार पूरी तरह से यात्रियों पर निर्भर है। पहले पटरियों के दोहरीकरण और अन्य मरम्मत कार्यों के चलते नवंबर में ट्रेनों के पहिए थम गए थे। ऐसे में यात्रियों की संख्या गिरावट आई थी। इसके बाद जनवरी के मध्य में ट्रेनों का संचालन शुरू हुआ। लेकिन कोविड-19 लॉकडाउन ने व्यापारियों की उम्मीदों पर एक बार फिर पानी फेर दिया। अब लॉकडाउन में ग्रीन जोन की रियायत से 56 दिन बाद हरकी पैड़ी क्षेत्र के बाजार खुले हैं। हरकी पैड़ी क्षेत्र के अपर रोड, मोती बाजार, बड़ा बाजार, रामघाट, भीमगोड़ा, सप्तसरोवर मार्ग आदि बाजार जो पहले रात-दिन गुलजार राहते थे वहां अब पूरी तरह सन्नाटा पसरा है। व्यापारियों का कहना है पहले ट्रेनों के संचालन पर रोक और अब लॉकडाउन से बाजार में कारोबार पूरी तरह से खत्म हो गया है।