ALL political social sports other crime current religious administrative
बैरागी कैंप में कुंभ कार्य शुरू नहीं होने पर संतों ने जताया रोष
August 28, 2020 • Sharwan kumar jha • religious

हरिद्वार। कुंभ मेले के सफल आयोजन को लेकर बैरागी संतों ने एकजुट होकर मां गंगा के जयकारे लगाए और मां गंगा से पूरे देश से कोरोना समाप्त करने की प्रार्थनाएं भी की। मध्य हरिद्वार स्थित नरसिंह धाम में आयोजित बैरागी संतों की बैठक को संबोधित करते हुए जगद्गुरू रामानंदाचार्य स्वामी अयोध्याचार्य महाराज ने कहा कि मां गंगा के आशीर्वाद से कुंभ मेला निर्विघ्न रूप से आयोजित होगा। कुंभ मेला लाखों करोड़ों सनातन प्रेमियों की आस्था का केंद्र बिन्दु है। 2021 के कुंभ मेले की भव्यता व आलोकिकता को लेकर संत महापुरूषों द्वारा लगातार राज्य की त्रिवेंद्र सरकार व मेला प्रशासन से मांग की जा रही है कि हरिद्वार धार्मिक नगरी के स्वरूप को धार्मिक कलाकृतियों से सजाया जाए। जिससे बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं को हरिद्वार की दिव्यता का अहसास हो सके। लेकिन प्रशासन की लचर कार्यशैली के चलते धर्मनगरी का स्वरूप बिल्कुल निम्न स्तर पर पहुंचा हुआ है। श्रीपंच निर्मोही अणी अखाड़े के श्रीमहंत राजेंद्रदास महाराज व श्रीपंच निर्वाणी अणी अखाड़े के श्रीमहंत धर्मदास महाराज ने संयुक्त रूप से कहा कि अक्टूबर माह से पूरे देश से बैरागी संत हरिद्वार पहुंचने लगेंगे। प्रशासन बैरागी संतों की संख्या को कमतर ना आंके। इसलिए प्रशासन को सचेत होकर अपनी तैयारियां तेज करनी चाहिए। बाबा हठयोगी व महंत रामशरणदास महाराज ने कहा कि बैरागी कैंप में संतों की छावनियां स्थापित करने के लिए जल्द से जल्द भूमि आवंटन कर बिजली, पानी, सड़क, शौचालय आदि की व्यवस्था करे। जिससे समय रहते अखाड़े अपनी व्यवस्थाएं कर सकें। महंत किशनदास, महंत मोहनदास महाराज ने कहा कि कुंभ मेला हमारी भारतीय सनातन परंपरांओं की एक अद्भूत पहचान है। इस दौरान स्वामी राजेंद्रदास, महंत मनमोहन दास, महंत रामजीदास, महंत किशनदास, साध्वी विजय लक्ष्मी, साध्वी जयश्री, महंत रामशरण दास, महंत अगस्तदास, महंत सिंटू दास, बाबा योगीराज आदि उपस्थित रहे।