ALL political social sports other crime current religious administrative
बंदरो को मारने के फेसले पर विचार करने को हिन्दू युवा वाहिनी ने भेजा ज्ञापन
July 2, 2020 • Sharwan kumar jha • other

हरिद्वार, 2 जुलाई। हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने जिला अध्यक्ष गौरव रसिक के नेतृत्व में सिटी मजिस्ट्रेट के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन प्रेषित कर कैबिनेट बैठक में रखे गए बंदरों को मारने के फैसले का कड़ा विरोध करते हुए इसे तत्काल वापस लेने की मांग की है। गौरव रसिक ने कहा कि उत्तराखंड सरकार ने फसलों का नुकसान पहुंचा रहे जंगली बंदरों को मारने का प्रस्ताव भारत सरकार को भेजा है। सोमवार को हुई राज्य वन्यजीव बोर्ड की बैठक में भी बंदरों की बढ़ती संख्या और उससे हो रहे नुकसान का विषय आया। इस पर बोर्ड को यह जानकारी दी गई कि इस संबंध में भारत सरकार को प्रस्ताव भेजा गया है। उन्होंने कहा कि सनातन धर्म में बंदरों को बजरंग बली हनुमान का स्वरूप समझकर पूजा जाता है। सरकार जीव जन्तुओं के संरक्षण व संवर्द्धन की बात करती है। ऐसे में शहरी क्षेत्र में प्रवेश करने वाले बंदरों की हत्या करना कहीं से भी उचित नजर नहीं आता है। जिला उपाध्यक्ष कृष्ण लाल प्रजापति ने कहा कि बंदरों को किसी भी सूरत में मारने नहीं दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस प्रस्ताव को तुरंत वापस लिया जाए। वरना संत समाज किसी भी आंदोलन से पीछे हटने वाला नहीं है। जल्द ही एक प्रतिनिधि मण्डल राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत व राज्य के वन मंत्री डा.हरक सिंह रावत से विस्तृत चर्चा कर इस प्रस्ताव को स्थगित करने की मांग करेगा। इस दौरान किशन कुमार, कार्तिक कश्यप, मंगल सिंह, आकाश विटोलिया, शनि भगत मोती राम आदि मौजूद रहे।