ALL political social sports other crime current religious administrative
बेंगलुरू हिंसा के विरोध में दलित आर्मी ने भेजा ज्ञापन,आरोपियों के खिलाफ कारवाई की मांग
August 13, 2020 • Sharwan kumar jha • other

हरिद्वार। दलित आर्मी के कार्यकर्ताओं ने सिटी मजिस्ट्रेट के माध्यम से प्रधानमंत्री को ज्ञापन प्रेषित कर बेंगलुरू हिंसा में दलित विधायक का घर व सरकारी संपत्ति जलाए जाने पर चिंता व्यक्त करते हुए इस तरह की घटनाओं की रोकथाम के लिए कड़ा कानून लागू करने की मांग की है। इस दौरान दलित आर्मी के संस्थापक अध्यक्ष नवीन तेश्वर ने कहा कि मामूली सी बात को लेकर बेंगलुरू में हुई हिंसा के दौरान उपद्रवी भीड़ ने दलित विधायक श्रीनिवास मूर्ति के घर को आग लगा दी। सरकारी संपत्ति को भी नुकसान पहुंचाया गया। भीड़ ने मीडियाकर्मियों को निशाना बनाया। उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाए देश व समाज के लिए चिंताजनक हैं। दलित विधायक के घर पर हमले से समस्त दलित समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंची हैं। इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए उपद्रवियों के खिलाफ कठोर कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए। साथ ही पूरे घटनाक्रम की उच्चस्तरीय जांच कराकर दोषियों को कड़ी सजा दी जाए। अमित मुलतानिया व राकेश लोहट ने कहा कि मामूली सी बात पर भीड़ द्वारा की जान वाली इस तरह की हिंसक घटनाओं से सामाजिक तानेबाने को नुकसान पहुंचा रहा है। ऐसी घटनाओं के लिए भीड़ को उकसाने वालों के खिलाफ भी कठोर कार्रवाई की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि समाज में असामाजिक तत्वों द्वारा भय फैलाया जा रहा है। ऐसे तत्वों पर लगाम लगाने के लिए गंभीरता दिखाने की आवश्यकता है। कानून को ताक पर रखकर भीड़ का हिस्सा बने असामाजिक तत्वों ने मनमर्जी करते हुए आगजनी की घटनाओं को अंजाम दिया। ऐसी घटनाओं तुरंत रोक लगायी जाए। इस अवसर पर अमित मंगोलिया, मनीष चैटाला, कमल अलियान, हन्नी चैटाला, पदम कांगड़ा, सुमित बजरंगी, मोनू कांगड़ा, विक्की चंचल, अर्जुन लोहट, मोनू कल्याण, नीतिश बिरला, करण शर्मा, हरीश, शुभम, अमन गुप्ता, मोहन कश्यप, संजय चैहान, अनुज, विजेंद्र, राजा, अभिषेक, अन्नु, तुषार आदि मौजूद रहे।