ALL political social sports other crime current religious administrative
भेल प्रबंधन के खिलाफ वेस्टर्न गेट चैराहे पर धरना देकर किया विरोध-प्रदर्शन
June 19, 2020 • Sharwan kumar jha • other

हरिद्वार। भेल में कार्यरत कर्मचारियों ने भेल प्रबंधन के खिलाफ वेस्टर्न गेट चैराहे पर धरना देकर विरोध-प्रदर्शन किया। कर्मचारियों ने कहा कि भेल प्रबंधन की मनमानी अब किसी भी हालत में सहन नहीं की जाएगी। इसके लिए चाहे उन्हें कुछ भी क्यों न करना पड़े। शुक्रवार को भेल में कार्यरत कई कर्मचारी व यूनियन के पदाधिकारी वेस्टर्न गेट चैराहे पर पहुंचे। यहां पदाधिकारियों ने शारीरिक दूरियों का पालन करते हुए भेल प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी के साथ जोरदार प्रदर्शन किया। इंटक हीप के महामंत्री राजबीर सिंह ने कहा कि भेल प्रबंधन श्रमिकों की प्रबंधन में भागीदारी का पालन नहीं कर रहा है। एकतरफा से श्रमिकों के ऊपर अपने निर्णय थोपता जा रहा है। चाहे वह कर्मचारी के स्थगन का मामला हो या अन्य। लेकिन, अब इसे किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। एचएमएस हीप के महामंत्री मनीष सिंह ने कहा कि पिछले कुछ समय से भेल प्रबंधन श्रमिकों की मांगों के प्रति गंभीर नहीं दिखाई पड़ रहा है। जिससे कर्मियों की समस्याएं लगातार बढ़ती ही जा रही है। एटक सीएफएफपी के महामंत्री सौरभ त्यागी ने कहा कि अन्य किसी भी पब्लिक सेक्टर में महंगाई भत्ते को फ्रीज नहीं किया गया है। जबकि, भेल प्रबंधन ने इस प्रकार का निर्णय लेकर श्रमिकों के मनोबल को तोड़ने का कार्य किया है, जिससे कर्मचारियों में रोष पनप रहा है। सीटू के महामंत्री केएस गुसाई ने कहा कि भेल प्रबंधन श्रमिकों को सब्सिडाइज रेट पर मिल रही कैंटीन सुविधा को भी खत्म करना चाहता है। साथ ही मार्केट रेट पर कैंटीन को चलाना चाहता है। यह प्रबंधन की संकीर्ण सोच को दर्शाता है, लेकिन कर्मचारी ऐसा नहीं होने देंगे। इस मौके पर संदीप चैधरी, अवधेश कुमार, रितेश सिघल, आइडी पंत, सुकरम पाल, केपी सिंह, मनमोहन कुमार आदि मौजूद रहे।