ALL political social sports other crime current religious administrative
बिल्केश्वर महादेव में विशेष पूजा अर्चना का आयोजन
August 3, 2020 • Sharwan kumar jha • religious

हरिद्वार। श्रावण मास के अंतिम सोमवार को प्राचीन श्री बिल्केश्वर महादेव में विशेष पूजा अर्चना का आयोजन किया गया।  जहां पर सुबह विशेष रूप से भोलेनाथ का रुद्राभिषेक किया गया वही सायकालीन भगवान भोलेनाथ की भव्य आरती की गई। मंदिर के प्रबंधक महंत बलवीर पुरी ने बताया कि प्राचीन बिल्केश्वर महादेव में जल और बेल पत्री चढ़ाने से समस्त शारीरिक कष्टों का निवारण होता है साथ ही साथ कोई भी भूखा और गरीब नहीं रहता है तथा असाध्य रोग भी दूर होते हैं श्रवण मास में भगवान बिल्केश्वर को जल और बेल पत्री चढ़ाने का विशेष महत्व है समीप बने गौरीकुंड का जल अमृत समान है माता पार्वती द्वारा कुंड का जल ग्रहण किया गया था जिससे यह जल अमृत समान है जिन स्त्रियों के बच्चे नहीं होते तथा होकर मर जाते हैं तथा अविवाहित लड़कियों की शादी में अड़चन आती है वह नियम पूर्वक यदि पूजा पाठ करें तो सारे कष्ट दूर होते हैं ।आज श्रावण मास के अंतिम सोमवार को सुबह से ही भक्तों का ताता मंदिर में लगा रहा लेकिन सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुरूप सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से अनुपालन मंदिर व्यवस्थापक द्वारा कराया गया मंदिर व्यवस्थापक श्री बलवीर पुरी महाराज ने बताया कि प्रत्येक दिन भगवान भोलेनाथ का रुद्राभिषेक किया जाता है प्राचीन गौरीकुंड में मंदिर के अंदर रात्रि को रुकने की अनुमति नहीं है क्योंकि साक्षात रुप से माता पार्वती यहां विराजमान है बिल्केश्वर महादेव जो कि पूर्व में बेल के पेड़ के नीचे विराजमान थे तथा वर्तमान में नीम के पेड़ के नीचे  विराजमान है जहां पर नियम पूर्वक पूजा पाठ का आयोजन किया जाता है उन्होंने बताया कि देश में फैली महामारी को भगवान भोलेनाथ शीघ्र ही दूर करेंगे तथा समस्त भक्तों का कल्याण करेंगे