चैत्रनवरात्रा का पूजन आज से,श्रद्वालुओं को करने होंगे घरों में ही पूजा अर्चना
March 24, 2020 • Sharwan kumar jha

हरिद्वार। बुधवार से शुरू हो रहे चैत्र नवरात्रा को लेकर लोगों में उत्साह तो है,लेकिन कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से तीर्थनगरी के विभिन्न मंदिरों को 31 मार्च तक के लिए बंद होने की वजह से मायूसी भी है। नतीजतन लोगों को अपने अपने घरों में ही शक्ति की अधिष्ठात्री की पूजा अर्चना करनी पड़ेगी। प्रमुख रूप से वर्ष में दो नवरात्रों में आमतौर पर लोग बड़ी श्रद्वा से पूजा अर्चना करते हुए नौ दिनों तक व्रत रखते है,लेकिन इस बार कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से शहर के विभिन्न मन्दिरों को प्रशासन ने 31मार्च तक आम श्रद्वालुओं के लिए बंद करा दिया है। हरिद्वार की अधिष्ठात्री माने जाने वाली सिद्वपीठ मायादेवी मन्दिरों, मनसा देवी,चण्डी देवी मंदिर के अलावा सरेश्वरी देवी मंदिर में श्रद्वालुओं की भारी भीड लगती हरी है। नौ दिनों का व्रत रखने वाले श्रद्वालुओं के अलावा पड़ोसी जिलों से भी श्रद्धालु पूजा-अर्चना करने पहुंचते हैं, लेकिन कोरोना से बचाव को लेकर इस बार नवरात्र पर भी सभी देवी मंदिर बंद करने का फैसला लिया है। प्रशासन के फेसले तथा अपने सामाजिक दायित्व को देखते हुए श्रद्वालुओं का इस बार नवरात्रा के दौरान मन्दिरों में जाकर पूजा अर्चना करने के बजाए अपने अपने घरों में ही शक्ति स्वरूपा की पूजा अर्चना करनी होगी। दूसरी ओर बुधवार से हिन्दू नववर्ष नवसंवत्सर का भी आगाज हो रहा है। नवसंवत्सर के प्रारम्भ होने पर लोग नये नये संकल्पों के साथ समाज और राष्ट्र के नवसृजन की कामना करेगे।