ALL political social sports other crime current religious administrative
देश के छात्रों की डिग्रियों पर कोविड का धब्बा नही लगने देगें-डाॅ निशंक
July 23, 2020 • Sharwan kumar jha • current

हरिद्वार। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे छात्रों की फाइनल परीक्षा हर हाल में कराई जाएगी। भले ही इसमें कोरोना संक्रमण के चलते देरी हो जाए। लेकिन, वह देश के छात्रों की डिग्रियों पर कोविड-19 का धब्बा नहीं लगने देंगे। वहीं उन्होंने हरिद्वार-रुड़की हाईवे चैड़ीकरण की धीमी रफ्तार पर भी नाराजगी जताई। गुरुवार को जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की समीक्षा बैठक के दौरान केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने वीडियो कांफ्रेंसिग के जरिये पत्रकारों से वार्ता की। इस दौरान उन्होंने कहा कि कुछ लोग छात्रों की शिक्षा को लेकर भी राजनीति कर रहे हैं। कहा कि भारत में 33 करोड़ छात्र-छात्राएं हैं, इतनी संख्या अमेरिका की कुल आबादी भी नहीं है। वह देश के छात्रों की डिग्री पर कोरोना का धब्बा नहीं लगने देंगे, इसलिए उच्च शिक्षा ले रहे छात्रों की फाइनल वर्ष की परीक्षाएं कराने के बाद ही डिग्रियां दी जाएंगी। लालढांग क्षेत्र के रसूलपुर मिट्ठीबेहड़ी में बनने वाले मॉडल डिग्री कॉलेज का निर्माण कार्य शुरू नहीं होने पर उन्होंने शिक्षा मंत्री से बात कर जल्द कार्य शुरू कराने की बात कही। किसानों की ओर से सरकारी गेहूं केंद्रों पर बेचे गए गेहूं का भुगतान न मिलने पर उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी विनीत तोमर को भुगतान कराने के निर्देश दिए। कहा कि हरिद्वार जिले में रिग रोड, मेडिकल कॉलेज, कुंभ कार्य समेत इतनी योजनाएं स्वीकृत हुई हैं। अब हरिद्वार का चहुमुंखी विकास होगा। कहा कि कोरोना आपदा में वह लगातार अधिकारियों के संपर्क में रहते हैं। वहीं, उन्होंने समीक्षा बैठक में हरिद्वार-रुड़की हाईवे चैड़ीकरण की धीमी गति पर भी नाराजगी जताई। कहा कि उन्हें बताया जाए कि हाईवे चैड़ीकरण में कहां परेशानी आ रही है। अगर कोई परेशानी आ रही है तो उसे वह दूर करें। इसके लिए चाहे वह दिल्ली आ जाएं। हालांकि, निशंक ने कहा कि हाईवे चैड़ीकरण का कार्य कुंभ से पहले ही हो जाएगा। इस मौके पर जिलाधिकारी सी. रविशंकर, विधायक आदेश चैहान, सुरेश राठौर, भाजपा जिलाध्यक्ष डॉ. जयपाल सिंह चैहान आदि मौजूद रहे। जल्द शुरू होगा इकबालपुर नहर का निर्माण