ALL political social sports other crime current religious administrative
दिल्ली में दर्ज मुकदमा पहुची हरिद्वार,महिला हेल्प लाइन प्रभारी करेगी जांच
May 10, 2020 • Sharwan kumar jha • crime

हरिद्वार। अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्या के खिलाफ दिल्ली में दर्ज हुई दुष्कर्म की जीरो एफआईआर गत दिवस हरिद्वार कोतवाली पहुंच गई। नगर कोतवाली पुलिस ने इस मुकदमे को नया क्राइम नंबर दे दिया है। महिला हेल्प लाइन की प्रभारी मीना आर्या को इस मामले की जांच के लिए मुख्य जांच अधिकारी नामित किया है। उधर सीओ सदर डॉ. पूर्णिमा इसका सुपरविजन करेंगी। बीते पांच मई को दिल्ली के विवेक विहार थाने में डॉ. पण्ड्या के खिलाफ दुष्कर्म के मामले की जीरो एफआईआर दर्ज की गई थी। तहरीर में घटनास्थल शांतिकुंज बताए जाने के कारण मुकदमा हरिद्वार ट्रांसफर किया गया है। दर्ज मुकदमे में युवती ने आरोप लगाया कि जब वह वर्ष 2010 में नाबालिग थी, उस समय उसके साथ दुष्कर्म किया गया। वर्ष 2014 में नाबालिग की तबीयत खराब होने के कारण उसको छत्तीसगढ़ भेज दिया गया। इसके बाद दोबारा शांतिकुंज बुलाया गया, लेकिन उसने आने से इनकार कर दिया था। जीरो एफआईआर शनिवार की शाम को हरिद्वार पहुंच गई। दिल्ली में दर्ज हुई जीरो एफआईआर को हरिद्वार में नया क्राइम नंबर दिया गया है। नगर कोतवाली प्रभारी प्रवीण सिंह कोश्यारी के अनुसार दिल्ली से यहां ट्रांसफर हुए मुकदमे में पीड़िता ने आरोप लगाया है कि उसने घटना की जानकारी शांतिकुंज प्रमुख डॉ. प्रणव पण्ड्या की पत्नी शैलबाला को भी दी थी। लेकिन शैलबाला ने भी उनकी कोई मदद नहीं की। इस मामले में पुलिस ने शिकायत के अनुसार शैलबाला को आरोपी बनाया है। उधर, अखिल विश्व गायत्री परिवार ने इन आरोपों को फर्जी बताते हुए कहा कि डॉ. प्रणव पण्ड्या की छवि खराब करने की मात्र कोशिश की गई है। आरोप निराधार हैं। दूसरी ओर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अबुदई सैन्थिल कृष्णएस राज ने दुष्कर्म के मामले की जांच के लिए मुख्य जांचकर्ता मीना आर्या के साथ ही ज्वालापुर इंस्पेक्टर योगेश सिंह देव को जांच में सहयोग के लिए नामित किया है। योगेश सिंह देव कई साल सीबीआई और एसटीएफ में रहकर कई बड़ी जांच कर चुके हैं। लंबा अनुभव होने के कारण उनको जांच में सहयोग के तौर पर रखा गया है। एसएसपी के अनुसार दिल्ली से ट्रांसफर हुए मुकदमे को नगर कोतवाली में नया क्राइम नंबर दिया गया है। जांच महिला हेल्प लाइन प्रभारी को सौंपी दी गई है और सुपरविजन डॉ. पूर्णिमा गर्ग करेंगी।