ALL political social sports other crime current religious administrative
दो मंत्री होने के बाद भी नही सुधर रही धर्मनगरी की दशा
August 23, 2020 • Sharwan kumar jha • political

हरिद्वार। कांग्रेस के पूर्व प्रदेश प्रवक्ता सुनील अरोड़ा ने प्रैस बयान जारी करते हुए कहा कि शहर की सड़कों की बद से बदतर हालत हो चुकी है। स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल हैं। राज्य की त्रिवेंद्र सरकार कोरोना काल में प्रदेश की जनता को मूलभूत सुविधाएं प्रदान करने में पूरी तरह से विफल साबित हो रही है। विधानसभा में हरिद्वार का प्रतिनिधित्व करने वाले शहरी विकास मंत्री व संसद में प्रतिनिधित्व करने वाले मानव संशाधन विकास मंत्री डा.रमेश पोखरियाल निशंक हरिद्वार की दशा दिशा सुधारने में पूरी तरह नाकाम हैं। कोरोना संक्रमण के साथ साथ डेंगू का प्रकोप भी धर्मनगरी में जारी है। स्वास्थ्य सेवाएं बदहाल हैं। अस्पताल में चिकित्सों व संसाधनों की कमी के चलते लोग निजी चिकित्सालयों में महंगा इलाज कराने को मजबूर हो रहे हैं। सुनील अरोड़ा ने अनियोजित विकास पर बोलते हुए कहा कि बिना किसी प्रभावी योजना व नीति के एक साथ कई विभागों के निर्माण कार्य संचालित किए जाने से लोगों को भारी असुविधाओं का सामना करना पड़ रहा है। शहर की तमाम सड़कें खुदी पड़ी हैं। गली मौहल्लों की सड़कों को भी खोद कर छोड़ दिया गया है। जिससे लोग गड्ढों में गिरकर चोटिल हो रहे हैं। गड्ढों में बरसाती पानी भरने से पैदा हो रहे मच्छरों की वजह से डेंगू व दूसरे संक्रामक रोग फैल रहे हैं। लेकिन जनप्रतिनिधि आंखे मूंदे बैठे हैं। सरकार पूरी तरह विफल हो चुकी है। प्रदेश में नौकरशाही हावी है। अधिकारी जनप्रतिनिधियों की सुनने को तैयार नही है।