ALL political social sports other crime current religious administrative
एक करोड़ की रंगदारी मांगने की साजिश का पुलिस ने किया खुलासा
September 17, 2020 • Sharwan kumar jha • crime

तंमंचे व कारतूस के साथ तीन आरोपित गिरफतार

हरिद्वार।  पुलिस ने प्रॉपर्टी डीलर मोनू त्यागी से एक करोड़ रुपये की रंगदारी मांगने की साजिश का पर्दाफाश करते हुए एक शूटर सहित तीन आरोपितों को तमंचे व कारतूस के साथ गिरफ्तार किया है। पड़ताल में सामने आया है कि अल्मोड़ा जेल में बंद मंगलौर निवासी कलीम के कहने पर रंगदारी मांगी गई थी। दहशत पैदा करने के लिए उसके गुर्गों ने प्रॉपर्टी डीलर के घर के बाहर हवाई फायरिग की थी। पुलिस ने एहतियात के तौर पर प्रॉपर्टी डीलर को सुरक्षा उपलब्ध कराई है। ज्वालापुर आर्यनगर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ कार्यालय की बगल में स्थित प्रॉपर्टी डीलर मोनू त्यागी की कोठी के बाहर सात सितंबर की रात दो युवकों ने हवाई फायरिग कर सनसनी फैला दी थी। पुलिस ने दो दिन बाद मोनू त्यागी के पिता सतेंद्र त्यागी की तहरीर पर अज्ञात शूटरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया था। पुलिस अभी मामले की जांच में जुटी थी कि 12 सितंबर को प्रॉपर्टी डीलर मोनू त्यागी को एक फोन कॉल आई। बात करने वाले शख्स ने प्रॉपर्टी डीलर को धमकाते हुए अल्मोड़ा जेल में बंद कलीम तक एक करोड़ रुपये की रंगदारी पहुंचाने को कहा। अगले दिन फिर मोनू त्यागी के वाट्सएप पर रंगदारी अदा करने के लिए एक मैसेज आया। इसमें लिखा गया था कि दो करोड़ की जरूरत है, लेकिन उसे एक करोड़ ही देने होंगे। प्रॉपर्टी डीलर ने इस संबंध में ज्वालापुर पुलिस से संपर्क साधा। तब पुलिस फायरिग की घटना को लेकर हरकत में आ गई। ज्वालापुर कोतवाल प्रवीण कोश्यारी व एसओजी प्रभारी राजीव चैहान की टीमों ने मिलकर छानबीन की। फायरिग के दिन सीसीटीवी फुटेज में दिख रहे एक युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो रंगदारी के तार अल्मोड़ा जेल तक जुड़ते चले गए। पुलिस ने शूटर शुभम पंवार उर्फ पंचू निवासी गांव बहादुरपुर थाना सेलाकुई देहरादून, रजत निवासी गौरा देवी बस्ती खड़खड़ी और निशु उर्फ बिजली पुत्र देवेंद्र निवासी रामगढ़ खड़खड़ी को तीन तमंचे व छह कारतूस के साथ गिरफ्तार कर लिया। ज्वालापुर कोतवाल प्रवीण सिंह कोश्यारी ने बताया कि शुभम और नीशू की मुलाकात हरिद्वार व देहरादून जेल में आजीवन कारावास की सजा काट रहे कलीम से हुई थी। कलीम ने ही प्रॉपर्टी डीलर से रंगदारी मांगने की योजना बनाई थी। बताया कि एहतियात के तौर पर प्रॉपर्टी डीलर मोनू त्यागी को सुरक्षा दे दी गई है। बताया जाता है कि रंगदारी के मास्टरमाइंड कलीम निवासी गांव किला मंगलौर रुड़की के खिलाफ हरिद्वार और ऊधमसिंहनगर में हत्या, हत्या के प्रयास सहित कई मुकदमे दर्ज हैं। वह काफी दिनों तक जिला कारागार रोशनाबाद, देहरादून जेल में बंद रहा है। वर्तमान में वह दोहरे हत्याकांड में अल्मोड़ा जेल में आजीवन कारावास की सजा काट रहा है। ज्वालापुर कोतवाल प्रवीण कोश्यारी ने बताया कि शुभम उर्फ पंचू हत्या के मामले में जेल जा चुका है। पुलिस टीम में ज्वालापुर कोतवाल प्रवीण कोश्यारी, एसएसआइ सुनील रावत, रेल चैकी प्रभारी लक्ष्मी प्रसाद, कांस्टेबल निर्मल, हेमंत, मनमोहन, अमजद, इमरान व सतेंद्र यादव शामिल रहे। एसएसपी सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस ने पुलिस टीम को शाबाशी देते हुए ढाई हजार रुपये इनाम दिया है।