ALL political social sports other crime current religious administrative
एम्स के निदेशक से मिले रामकृष्ण मिशन के साधु संत
August 22, 2020 • Sharwan kumar jha • other

हरिद्वार। श्री रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम कनखल के सचिव स्वामी नित्यशुद्धानंद ने शनिवार को एम्स ऋषिकेश के निदेशक डॉ रवि कांत से मिशन के साधु संतों के साथ मुलाकात की और उन्हें स्वामी विवेकानंद रामकृष्ण परमहंस के चित्र और साहित्य भेंट किए।इस मौके पर उन्होंने संतों और चिकित्सकों के साथ कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप के विषय में चर्चा की और इसे रोकने में हेल्थ केयर प्रोवाइडर की महत्वपूर्ण भूमिका की सराहना की। उनके साथ स्वामी दयाधिपानंद (डॉ शिवकुमार), स्वामी महिमानंद , स्वामी हरि महिमानंद, स्वामी आनंदयानंद थे। इस दौरान एम्स के निदेशक डॉ रविकांत ने कहा कि 2 वर्ष तक इस महामारी के रहने की संभावना है। ऐसे में जान को बचाना हमारी प्राथमिकता है। इसी के लिए अस्पताल में अहर्निश कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा शारीरिक दूरी रखना है लेकिन मन से हमें पूरे संसार को वसुदेव कुटुंबकम मानते हुए अधिक निकटता से जुड़ना है ताकि हम इस महामारी का सामना कर सके। स्वामी दयाधिपानंद ने कहा अगर जान बचेगी तो जो भी माली नुकसान इस महामारी द्वारा हुआ है उसकी भरपाई हम 2 साल में कर लेंगे। अगर जान ही नहीं होगी तो धन का कोई लाभ नहीं। इसलिए सबसे पहले सबको अपनी सुरक्षा को प्राथमिकता देनी होगी।