ALL political social sports other crime current religious administrative
गायत्री परिवार के साधक करेंगे कोरोना से मुक्ति,वातावरण शुद्वि के लिए यज्ञ
May 12, 2020 • Sharwan kumar jha • religious

हरिद्वार। गायत्री परिवार के साधक वैश्विक महामारी कोरोना से मुक्ति और वातावरण की शुद्धि के लिए 31मई से गायत्री यज्ञ और उपासना करेंगे। गायत्री परिवार के प्रमुख डॉ. प्रणव पंड्या ने बताया कि इसमें विश्व के सौ से अधिक देशों के करीब 15 करोड़ साधक आयुर्वेदिक औषधियुक्त हवन सामाग्री के साथ गायत्री और महामृत्युंजय मंत्र व आदित्य (सूर्य) मंत्रों का उच्चारण करेंगे। गायत्री तीर्थ शांतिकुंज के अधिष्ठाता और अखिल विश्व गायत्री परिवार के प्रमुख डॉ. प्रणव पंड्या ने बताया कि ‘गृह-गृह गायत्री यज्ञ-उपासना‘ का मुख्य उद्देश्य मानव कल्याण है। उन्होंने बताया कि वेद, पुराण और आयुर्वेदिक ग्रंथों में स्वास्थ्य रक्षा के लिए अनेक मंत्रों व उपायों का उल्लेख है। वैदिक काल के ये मंत्र, यज्ञ और उपाय आज भी अचूक हैं। गायत्री मंत्र का उच्चारण वातावरण को शुद्ध, शांत और आध्यात्मिक बनाता है। उन्होंने बताया कि इन्हीं बातों को ध्यान में रख यह आयोजन किया जा रहा है। एक जून को गायत्री प्रकटोत्सव है और उससे ठीक एक दिन पहले यह आयोजन किया जा रहा है। डॉ. पंड्या ने बताया कि आयोजन की जिम्मेदारी शांतिकुंज परिवार के वरिष्ठ कार्यकर्ता केपी द्विवेदी को दी गई है। आयोजन से जुड़े केपी द्विवेदी ने बताया कि भारत में शांतिकुंज परिवार के सदस्यों के साथ-साथ नए घरों को भी इससे जोड़ा जा रहा है। उन्होंने कहा कि सभी लोग अपने घरों में ही यह आयोजन करेंगे। आयोजन का समय भारत में सुबह नौ बजे से शाम चार बजे तक है। द्विवेदी ने बताया कि लोगों को विभिन्न माध्यमों से मंत्रोचारण और हवन के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है। इसके लिए पिछले कई सप्ताह से आन-लाइन कक्षा-कार्यक्रम चलाया जा रहा है। कक्षाओं में उन्हें मंत्र और श्लोक के सही उच्चारण और यज्ञ आहुति के तरीकों की जानकारी दी जा रही है। जो प्रशिक्षित हो चुके हैं, वे दूसरों को प्रशिक्षित कर रहे हैं।  बताया कि आयोजन वाले दिन देश-विदेश में विभिन्न जगहों से गृह-गृह गायत्री यज्ञ-उपासना आयोजन में सम्मिलित होने वाले लोगों की सहायता के लिए जूम, सिस्का एप आदि की व्यवस्था की जा रही है, ताकि उन्हें कोई दिक्कत न हो।