ALL political social sports other crime current religious administrative
ग्रहण समाप्ति पर श्रद्वालुओं ने लगाई डुबकी,मन्दिरों में पूजा अर्चना
June 21, 2020 • Sharwan kumar jha • religious

हरिद्वार। रविवार को पहले खण्डग्रास सूर्य ग्रहण के बाद हजारों लोगों ने हरकी पैड़ी और आसपास के गंगा घाटों पर डुबकी लगाई। ग्रहण के बाद लोगों ने दान किया और धर्मनगरी के मंदिरों की सफाई की गई। शनिवार रात को 10ः23 बजे बंद हुए मंदिर रविवार को ग्रहण समाप्ति के बाद खोले गए। सुबह आरती नहीं हुई। हरकी पैड़ी ब्रह्मकुंड और अन्य मंदिरों में दोपहर बाद आरती की गई।रविवार प्रातः10ः23 बजे शुरु हुआ ग्रहण दोपहर 1ः51 बजे समाप्त हुआ। इससे पहले ग्रहण का सूतक 12 घण्टे पूर्व शनिवार रात्रि 10ः23 से प्रारम्भ हुआ। इस कारण महानगर के मन्दिर रविवार को पूरी तरह बंद रहे। ग्रहण के बाद हरकी पैड़ी और अन्य घाटों पर श्रद्धालु बैठकर विभिन्न धार्मिक ग्रंथों से पाठ करते रहे। कई श्रद्धालु मालाएं लेकर जप करते रहे। लोगों ने सुबह ग्रहण से मुक्ति के बाद ही अन्न जल ग्रहण किया। ग्रहण के उपरांत श्रद्धालुओं ने यथास्थान जाकर पात्रों को ग्रहण का दान दिया। जिस समय ग्रहण चल रहा था, उस समय भी धर्मनगरी में दान पुण्य चलता रहा। सूर्यनारायण के ग्रहण से मुक्त होने के बाद तमाम मंदिरों के द्वार खोले गए। देव प्रतिमाओं को गंगाजल से स्नान कराकर नए वस्त्र धारण कराए गए। हरकी पैड़ी और घरों में नगर वासियों ने नवीन यज्ञोपवीत धारण किए। स्थानीय लोगों ने हरकी पैड़ी के आसपास गंगा घाटों में स्नान किया।