ALL political social sports other crime current religious administrative
गुरूकुल में ठेका प्रथा को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नही किया जायेगा-दिेनेश कुमार
July 23, 2020 • Sharwan kumar jha • other

वेतन कटौती को लेकर शिक्षणेत्तर कर्मचारियों ने जताया रोष

हरिद्वार। गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय में शिक्षणेत्तर कर्मचारी यूनियन की कार्यकारिणी की बैठक गुरुवार को यूनियन कार्यालय में बुलाई गई। बैठक की अध्यक्षता यूनियन के अध्यक्ष दिनेश कुमार ने की। उन्होंने कहा कि यूनियन के द्वारा कई मुद्दों को लेकर प्रशासन से लिखित में वार्ता की गयी थी। आज तक गुरुकुल प्रशासन ने एक भी मुद्दे को निपटाने का काम नहीं किया है। बहुत सारे कर्मचारी वेतन कटने के कारण भुखमरी के कगार पर आ जायेंगे। उन्होंने कहा कि फिक्स और दैनिकवृत्ति पर कार्य करने वाले कर्मचारियों के वेतन में भारी कटौती कर दी गयी है। उन्होंने कहा कि गुरुकुल में ठेका प्रथा को किसी भी कीमत शुरू नहीं करने दिया जायेगा। सबसे बड़ी बात यह है कि जिन कर्मचारियों को फिक्स पर काम करते हुए 15 से 20 साल हो गए है जिसके कारण उनका भविष्य अधर में लटक गया है। यूनियन के महामंत्री दीपक वर्मा ने बैठक का संचालन करते हुए कहा कि कर्मचारियों के अनेक मुद्दों को लेकर विश्वविद्यालय प्रशासन के साथ अनेकों बार वार्ता की गयी लेकिन वार्ता का परिणाम आश्वासन ही मिला। कर्मचारी नेता ने कहा कि विश्वविद्यालय प्रशासन के द्वारा स्थाई कर्मचारियों मेडिकल, शिक्षा भत्ता, एलटीसी आदि की सुविधाएं लम्बित कर दी गयी है। जबकि भारत सरकार द्वारा इस तरह का कोई भी शासनादेश विश्वविद्यालय को प्राप्त नहीं हुआ है। शिक्षकेत्तर कर्मचारी यूनियन के पूर्व अध्यक्ष विजेन्द्र सिंह ने बैठक में विश्वविद्यालय के कर्मचारियों का इसी माह में मिलने वाले वेतन में से कटौती होने की संभावना पर रोष व्यक्त किया। पूर्व महामंत्री रमेश चन्द ने कहा कि सभी कर्मचारियों के हितों को ध्यान में रखते हुए गुरुकुल प्रशासन को कर्मचारियों के सेवा अधिकार से वंचित नहीं किया जा सकता। विश्वविद्यालय प्रशासन को कर्मचारियों के हित को ध्यान में रखते हुए उनकी मांगों को तत्काल प्रभाव से पूर्ण करना चाहिए। पूर्व महामंत्री प्रकाश चन्द्र तिवारी ने कहा कि कर्मचारियों की वेतन कटौती को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। बैठक में नवीन कुमार, विरेन्द्र पटवाल, बलजीत सिंह बिडला, अश्वनी कुमार, समीर राणा, अनिरुद्ध यादव, मनोज कुमार, हेमन्त सिंह नेगी, भारत सिंह, मनोज नेगी, संजय कुमार, गुरप्रीत सिंह, चरणजीत सिंह आदि उपस्थित रहे।