ALL political social sports other crime current
हड़ताल कर रहे कर्मचारियों ने धरना देकर सरकार के खिलाफ की नारेबाजी
March 17, 2020 • Sharwan kumar jha

रिद्वार। पदोन्नति में आरक्षण समाप्त करने सहित अन्य मांगो को लेकर उत्तराखंड जनरल-ओबीसी कर्मचारी एसोसिएशन के बैनर तले विभिन्न विभागों के कर्मचारियों ने सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय परिसर में धरना दिया। हड़ताली कर्मचारियों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रोष जताया। इस दौरान हुई सभा को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि मांग पूरी होने तक एक इंच भी पीछे नहीं हटेंगे। आरोप लगाया कि सरकार के कुछ मंत्री कर्मचारियों की आवाज को दबाने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपना रहे हैं। इससे पहले सभी विभागों के जनरल-ओबीसी कर्मचारी मंगलवार को सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय परिसर में एकत्र हुए। यहां नारेबाजी करते हुए अपनी मांगों को लेकर धरने पर बैठ गए। वक्ताओं ने कहा कि सरकार के एक मंत्री कर्मचारियों के खिलाफ मुख्यमंत्री को गलत सलाह दे रहे हैं। वो ऐसा करके कर्मचारियों की आवाज को दबाने का प्रयास कर रहे हैं। जिसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार जल्द प्रमोशन में आरक्षण की व्यवस्था को समाप्त करे। कर्मचारियों की पदोन्नति पर लगाई गई रोक को हटाया जाए। उच्चतम न्यायालय के फैसले का पालन करे। उन्होंने कहा कि लेकिन सरकार इसे सुनने को तैयार ही नहीं है। अगर जल्द सरकार ने कर्मचारियों की मांगें नहीं मानी तो बड़ा आंदोलन शुरू कर दिया जाएगा। कहा कि जनरल-ओबीसी कर्मी इस लड़ाई को आने वाली युवा पीढ़ी के लिए लड़ रहे हैं। जब तक सरकार मांगें नहीं मानेगी, तब तक कर्मचारी अपने आंदोलन से एक इंच भी पीछे नहीं हटेंगे। जनरल-ओबीसी कर्मचारियों के साथ होने वाले भेदभाव को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। धरना देने वालों में जिलाध्यक्ष दीपक राजपूत, सचिव देवेंद्र रावत, संयोजक राजेश श्रीवास्तव, नीरज गुप्ता, विपिन रावत, नीरज त्यागी, पंकज गुप्ता, दिनेश भट्ट, सुशील गुप्ता, शैलेंद्र कांबोज, अंबरीष कुमार, पंकज द्विवेदी, अंकित वर्मा, गीता शर्मा, मुकेश मुरारी, दयाल चैहान, संदीप नेगी, किरणपाल, सीमा पाल, शांति चैहान आदि शामिल रहे।जिला पंचायत परिसर में होना था धरनासभी विभागों के कर्मचारियों का धरना जिला पंचायत परिसर में होना था। सुबह यहां अधिकतर विभाग के कर्मचारी पहुंच भी गए थे। लेकिन किन्हीं कारणों से बाद में सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय परिसर में धरना देने का निर्णय लिया।ऊर्जा निगम के कर्मचारियों ने निकाली रैलीऊर्जा निगम मायापुर डिवीजन और ज्वालापुर डिवीजन के कर्मचारी मायापुर स्थित कार्यालय में एकत्र हुए। इसके बाद रैली निकालकर सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय पहुंचकर धरने में शामिल हुए। इस दौरान अधिशासी अभियंता वीएस पंवार, सहायक अभियंता केडी जोशी, आलोक चैहान, एमएस नेगी, अनुज जुडिवाल, मुकेश वाष्णेय, सन्नी गोस्वामी, प्रभात कुमार, रीता राजपूत, शिल्पी सैनी, प्रदीप शर्मा, राजेश पाल, एलएस नेगी, नीरज सैनी आदि शामिल रहे।