ALL political social sports other crime current religious administrative
होम आइसोलशेन को लेकर जिला प्रशासन ने जारी किए दिशा निर्देश
August 13, 2020 • Sharwan kumar jha • administrative

हरिद्वार। उत्तराखण्ड शासन द्वारा नवीनतम दिशा निर्देशानुसार लक्षण रहित कोविड-19 संक्रमित रोगियों को उनके अपने निवास मे ही सेल्फ-आइसोलेशन का विकल्प उपलब्ध कराने हेतु होम-आइसोलेशन के संबंध मे दिशा निर्देश जारी किये गये है। होम आइसोलेशन की पात्रता हेतु उपचार प्रदान करने वाले चिकित्सक के द्वारा ऐसे व्यक्ति को लक्षणरहित रोगी के रूप मे चिन्हित किया गया हो। 24 घण्टे रोगी की देखभाल करने के लिए देखभाल करने वाला एक व्यक्ति उपलब्ध हो। ऐसे रोगी के निवास पर स्वंय को आइसोलेट करने एवं परिजनो को क्वारंटीन करने की सुविधा उपलब्ध हो। घर मे रोगी के लिए एक शौचालय युक्त कक्ष एवं उसकी देखभालकर्ता के लिए एक अतिरिक्त शौचालययुक्त कक्ष अनिवार्य रूप से होना चाहिए। ऐसे रोगी जिनकी आयु 60 वर्ष से अधिक है या अन्य किसी बीमारी से ग्रसित हैं (गर्भवती महिलाऐं, 10 साल से कम आयु के बच्चे अथवा ऐसे रोगी जिनकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता किसी कारणवश (एच0आई0वी0ध् अंग-प्रत्यारोहितध्कैंसर का उपचार प्राप्त करने वाले) कमजोर हैं वे होम-आइसोलेशन के लिए पात्र नही होंगे तथा उस घर मे होम आइसोलेशन की अनुमति नही दी जायेगी। ऐसे घर जिसमे 60 वर्ष से अधिक आयु के या अन्य किसी बीमारी से ग्रसित व्यक्ति हैं (गर्भवती महिलाऐं, 10 साल से कम आयु के बच्चे अथवा ऐसे रोगी जिनकी रोग-प्रतिरोधक क्षमता किसी कारणवश (एच0आई0वी0ध् अंग-प्रत्यारोहितध्कैंसर का उपचार प्राप्त करने वाले) कमजोर हैं, उस घर मे होम आईसोलेशन की अनुमति नही दी जायेगी ।देखभाल करने वाले व्यक्ति एवं रोगी के नजदीकी सम्पर्को को प्रोटोकाल एवं उपचार करने वाले चिकित्सक के परामर्श के अनुसार हाइड्राक्सीक्लोरोकीन प्रोफाइलेक्सिस लेनी होगी। रोगी को सैल्फ आइसोलेशन हेतु एक अण्डरटेकिंग देनी होगी तथा क्वारंटीन गाइडलाइन्स का अनुपालन करना होगा। रोगी एवं देखभाल करने वाले व्यक्ति को गाइडलाइन का पालन करना होगा ।रोगी एवं देखभाल करने वाला व्यक्ति नियमित रूप से अपने स्वास्थ्य का अनुश्रवण करेंगें तथा  सांस लेने मे कठिनाई, शरीर मे आक्सीजन की संतप्ता मे कमी,  सीने मे लगातार दर्द, भारीपन होना,  मानसिक भ्रम की स्थिति अथवा सचेत रहने मे असमर्थता, बोलने मे समस्या, चेहरे या किसी अंग मे कमजोरी,  होठों चेहरे पर नीलापन होने पर आदि गम्भीर लक्षण विकसित होने पर तत्काल चिकित्सकीय सहायता हेतु जनपद के स्वास्थ्य अधिकारियोंध्नियंत्रण कक्ष से सम्पर्क किया करेंगे। होम-आइसोलेशन मे रहने वाले रोगियों का होम-आइसोलेशन कोविड पोजिटिव होने के 10 दिनो के पश्चात तथा पिछले 3 दिनों तक बुखार न आने की स्थिति मे समाप्त माना जाएगा। इसके पश्चात अगले 7 दिनांे तक रोगी घर पर ही रहकर अपने स्वास्थ्य का अनुश्रवण करेगे। होम-आइसोलेशन की समाप्ति पर टैस्टिंग की आवश्यकता नही है।