ALL political social sports other crime current religious administrative
जूमें की नमाज अता कर सलामती की दुआएं मांगी
May 8, 2020 • Sharwan kumar jha • religious

हरिद्वार। पाक महीना रमजान के दूसरे जुमे को बड़ी संख्या में रोजेदारों ने अपने अपने घरों की छत पर नमाज अता कर सलामती की दुआएं मांगीं। मस्जिदों में पेश इमाम समेत चार पांच लोगों ने जुमे की नमाज अदा की। नमाज से पहले रोजे की फजीलत बयां की गई। रमजान माह के दूसरे जूमें पर मुस्लिम समाज के लोगों में उत्साह दिखाई दिया। बच्चों में भी जहां खुशी दिखी, वहीं लॉकडाउन के चलते रमजान की रौनक भी गायब रहने से बच्चों के मन दुखी भी हुए। बताया जाता है कि हर मुस्लिम को फितरा देना भी आवश्यक होता है। इस मौके पर मस्जिद के इमाम कहा कि इन दिनों मुल्क बहुत ही मुश्किल दौर से गुजर रहा है। सभी की सलामती की दुआएं मांगें। हर जरूरतमंद की मदद करें। खजूर वाली मस्जिद के इमाम हाफिज साजिद हुसैन ने बताया कि कलाम पाक की तिलावत करें और खुदा से गुनाहों की तौबा मांगें। रमजान के मुबारक महीने में की गई इबादत जरूर कबूल होती है। उन्होंने कहा कि अपने-अपने घरों में ही नमाज अता करते रहें।सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। हाफिज शमी अहमद ने कहा कि इस बार ईद पर खरीदारी न करके गरीब लोगों की मदद करें। रमजान में एक नेकी के बदले 70 नेकियों का सवाब मिलता है।