ALL political social sports other crime current religious administrative
कांग्रेस नेता के खिलाफ मुकदमा दर्ज होने से नाराज कांग्रेस ने दी घेराव की चेतावनी
September 16, 2020 • Sharwan kumar jha • political

हरिद्वार। कांग्रेस के कार्यकारी जिलाध्यक्ष रवि बहादुर के खिलाफ कोतवाली ज्वालपुर में दर्ज कराए गए मुकदमे पर कांग्रेस ने भाजपा पर पलटवार किया है। कांग्रेस नेताओं ने कैबिनेट मंत्री और अफसरों पर सवाल उठाते हुए घेराव की चेतावनी भी दी है। बुधवार को हरिद्वार प्रेस क्लब में पत्रकारों से वार्ता के दौरान नाला निर्माण का एग्रीमेंट दिखाते हुए  कांग्रेस कार्यकारी जिलाध्यक्ष रवि बहादुर ने कहा कि नाला निर्माण वर्ष 2019 में पूरा होना था, लेकिन 2020 में भी कार्य अधूरा पड़ा है। रवि बहादुर ने यह भी आरोप लगाया कि नाला निर्माण में घटिया सामग्री लगाने की सूचना अधिशासी अभियंता को भी दी गयी तथा उनसे मौके पर आकर निरीक्षण करने को कहा तो उन्होंने इसे राजनीतिक विरोध बताकर हस्तक्षेप करने से इंकार कर दिया। बताया कि नाला निर्माण कार्य 2019 में पूरा होना था। जो अब तक पूरा नहीं हो पाया है। रवि बहादुर ने अधिकारियों पर सत्ता के दबाव में कार्य करने का आरोप भी लगाया।आरोप लगाया कि ठेकेदार खुद को कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक का रिश्तेदार बताता है। घटिया निर्माण सामग्री पर जब भी उन्होंने ठेकेदार से संपर्क किया, उसने खुद को मंत्री के साथ बैठक में व्यस्त बताया। आरोप लगाया कि विभाग के अधिकारी भी ठेकेदार साठगांठ कर भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रहे हैं। उन्होंने ठेकेदार से सवाल पूछा था। जिसको लेकर उनके खिलाफ फर्जी मुकदमा दर्ज कराया गया है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि मुकदमा वापस नहीं हुआ तो मंत्री का घेराव किया जाएगा। आरोप लगाया कि कैबिनेट मंत्री उनके पिता किरणपाल वाल्मीकि का उत्पीड़न भी कर चुके हैं। पूर्व जिलाध्यक्ष राजीव चैधरी ने कहा कि युवा कांग्रेस फर्जी मुकदमों से डरने वाली नहीं है। मांग करते हुए कहा कि हरिद्वार में सरकारी कार्यों का टेंडर लेने वाले ठेकेदारों की जांच की जानी चाहिए। अनिल भास्कर ने कहा कि फर्जी मुकदमे का मुंह तोड़ जवाब दिया जाएगा। पत्रकार वार्ता में विभास मिश्रा, हिमांशु बहुगुणा, नासिर गौड़ आदि मौजूद रहे।