कड़ी मेहनत और अनुशासन के बूते ऊंचाइयों को छुआ जा सकता है-अपर मेलाधिकारी
March 1, 2020 • Sharwan kumar jha

हरिद्वार। रामानंद इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी में वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिताओं और वार्षिकोत्सव निरंजनी का शुभारम्भ अपर कुंभ मेला अधिकारी हरवीर सिंह ने मशाल जलाकर की। चार दिवसीय खेलकूद प्रतियोगिताओं के पहले दिन क्रिकेट बैडमिंटन, कैरम, शॉट पुट, टेबल टेनिस, के नॉकआउट मैचों में छात्र-छात्राओं ने अपना जलवा दिखाया। इंस्टीट्यूट में प्रतियोगिता की शुरुआत सरस्वती वंदना और योग व सूर्य नमस्कार के साथ हुई। छात्र-छात्राओं को खेल भावना व अनुशासन की शपथ दिलाई गई। मुख्य अतिथि अपर मेला अधिकारी हरबीर सिंह ने मशाल प्रज्ज्वलित कर छात्र अभिषेक शुक्ला व छात्रा विदुषी को सौंपी। हरबीर सिंह ने इंस्टीट्यूट के 11 वर्ष पूरे होने पर प्रबन्धन व छात्र-छात्राओं को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि रामानंद इंस्टीट्यूट ने बहुत कम समय में खुद को ऊंचाई पर स्थापित किया है। कहा कि छात्र जीवन में खेलकूद बहुत जरूरी है। कड़ी मेहनत और अनुशासन के बूते ऊंचाइयों को छुआ जा सकता है। संचालन निदेशक वैभव शर्मा ने अपर मेला अधिकारी हरबीर सिंह का स्वागत करते हुए इंस्टीट्यूट की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला। एसएमजेएन पीजी कॉलेज के प्राचार्य डॉ. सुनील कुमार बत्रा, जेएसबी इंटर कॉलेज शाहपुर के प्रधानाचार्य रमेश चंद्र, जेआईसी इंटर कॉलेज पथरी के प्रधानाचार्य बीबी पंत, सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज भेल के प्रधानाचार्य एनके चैहान, विद्या मंदिर। इंटर कॉलेज भेल के वाइस प्रिंसिपल एसके शर्मा, प्रबन्ध समिति की सचिव एकता सूरी व मेघना शर्मा आदि अतिथियों ने भी अपने विचार रखते हुए इंस्टीट्यूट के 11 वर्ष पूर्ण होने पर बधाई व शुभकामनाएं दी। मैनेजमेंट हेड मनुज उनियाल, डाॅ. मयंक गुप्ता, सूरज राजपूत, आर्य शर्मा आदि ने अतिथियों का स्वागत किया। मार्च पास्ट की अगुवाई आदित्य व करिश्मा ने की। जबकि कार्यक्रम का सफल संचालन सुदीप व प्रार्थना ने किया। नॉकआउट मैच में पॉलिटेक्निक टीम की अगुवाई अजीत तोमर व नेहा, बीटेक की टीम प्राज्जवल व हर्षिता, एमबीए टीम का नेतृत्व शशांक और नेहा, फार्मेसी की टीम ने अर्जित और शिवानी की अगुवाई में शानदार प्रदर्शन किया। निदेशक संचालन वैभव शर्मा ने बताया कि खेलकूद प्रतियोगिता में करीब 280 छात्र-छात्राएं भाग ले रहे हैं। जिनमें पॉलिटेक्निक से 78, फार्मेसी से 110, बीटेक से 42 और मैनेजमेंट से 43, छात्र-छात्राएं शामिल हैं।