ALL political social sports other crime current
करोना वाइरस के संक्रमण रोकने मे कारगर है सादा पान खाना
March 16, 2020 • Sharwan kumar jha

हरिद्वार। गुरूकुुल कांगड़ी विवि के सहायक प्रोफेसर डा0शिवकुमार चैहान ने कहा है कि सादे पान के उपयोग से कोरोना के संक्रमण से बचाव हो सकता है। प्रेस को जारी विज्ञप्ति में उन्होने कहा है कि वैश्विक स्तर पर कोरोना वाइरस (कोविड-19) के संक्रमण के खौफ से हा-हा कार मचा हुआ है। चीन के वुहान से आरम्भ होकर यह माहमारी पूरी दुनिया मे अपना जाल फैला चुकी है। जिसके कारण लोग खौफ के साये मे जी रहे है। इसके उपचार की कोई प्रामाणिक व्यवस्था न होने के कारण एक मात्र बचाव तथा कुछ बारीक बारीक सावधानियों के माध्यम से इसके संक्रमण को रोकने मे सफलता पाई जा सकती है। भारतीय परिवेश मे खान-पान एवं भोजन मे प्रयुक्त होने वाले मसाले एवं उनके औषधीय गुण हमारे दैनिक जीवन मे विशेष महत्व रखते है। नानी-दादी के नुस्खे भी अनेक बीमारियों मे कारगर है। जिनका उपयोग आज भी किया जाता है। ऐसे मे इस नये संक्रमण से बचाव मे औषधीय गुण वाले मसाले भी काफी हद तक इसके संक्रमण को फैलने से रोकने मे सहायक है। संक्रमित व्यक्ति से मिलने वाले लक्षणों मे प्रमुख सम्पर्क तथा ड्रोप लैट के द्वारा इसके विषाणु शरीर, हाथ या कपडों से फेफडों मे पहुच कर श्वास सम्बधी जटिलताओं को बढाते है। जिसके कारण श्वसन क्रिया मे अवरोध उत्पन्न होने से रोगी मौत हो जाती है। ऐसे मे पान विशेषकर सादे पान मे प्रयोग होने वाले मसाले जैसे कत्था, चूना, लौग, इलायची, गुलकन्द, सौफ, खुशबु आदि औषधीय वस्तुये श्वसन एवं फेफडों से जुडी हुई जटिलताओं को घटाने मे तथा इसके महत्व को बढाने में सहायक है।

पान के औषधिय गुण-
1.पान का पत्ता एंटीसेप्टिक का काम करता है, जो अनेक उपचार मे प्रयोग मे लाया जाता है।
2. नकसीर या नाक से खून आने की समस्या मे पान का पत्ता सूंघने से लाभ होता है।
3. पान खाने तथा इसके पानी को पीने से गले तथा श्वसन सम्बधी अनेक बीमारियों मे राहत मिलती है।
4. मसूडों से खून आनातथा दर्द होने पर पान के पत्ते को पानी मे उबालकर उसके गरारे करने से गले का संक्रमण ठीक होता है, मसूडों के दर्द तथा खून आने मे राहता मिली है।
5. ब्रोंकाईटिस तथा कफ से प्रभावित व्यक्ति को 7-8 पान के पत्तों को 3-4 कप पानी मे चीनी के साथ उबालें। जब यह पानी एक गिलास रह जाये तब इसे दिन मे तीन बार पीने से ब्रोंकाईटिस, कफ तथा वर्तमान मे कोरोना के लक्षणों को दूर करने के सहायता मिलती है।