केआरएल पर लगाया व्यापारियों के उत्पीड़न का आरोप, अवैध वसूली बंद करने की मांग
March 19, 2020 • Sharwan kumar jha

हरिद्वार। प्रदेश व्यापार मण्डल के प्रदेश अध्यक्ष संजीव चैधरी ने केआरएल पर सफाई के नाम पर व्यापारियों का उत्पीड़न व अवैध वसूली करने का आरोप लगाया है। इस संबंध में संजीव चैधरी के नेतृत्व में व्यापारियों ने मुख्य नगर आयुक्त को ज्ञापन देकर व्यापारियों का उत्पीड़न व अवैध वसूली बंद कराने की मांग की। ज्ञापन सौंपने के दौरान संजीव चैधरी ने कहा कि नगर निगम द्वारा कूड़ा उठाने के लिए अनुबंधित की गयी केआरएल सफाई के नाम पर व्यापारियों का उत्पीड़न कर रही है। व्यापारियों के भारी भरकम चालान काटकर अवैध रूप से वसूली भी की जा रही है। प्रतिमाह शुल्क वसूल करने के बावजूद कंपनी व्यापारियों को कोई सुविधा भी उपलब्ध नहीं करा पा रही है। व्यापारी अपने प्रतिष्ठानों के आसपास स्वयं के खर्च पर सफाई करा रहे हैं। उन्होंने कहा कि चालान काटने से पहले कंपनी को व्यापारियों से बात की जानी चाहिए। लेकिन कंपनी के अधिकारी व कर्मचारी कुछ सुनने को तैयार नहीं है। उन्होंने कहा कि यदि काटे गए चालान तुरंत निरस्त किए जाएं। अन्यथा व्यापारी आंदोलन चलाने को मजबूर होंगे। जिला अध्यक्ष शिवकुमार कश्यप व समाजसेवी विशाल गर्ग ने कहा कि डोर टू डोर कूड़ा उठाने के लिए नगर निगम द्वारा अनुबंधित की गयी केआरएल व्यापारियों का उत्पीड़न कर रही है। उन्होंने मांग की कंपनी द्वारा की जा रही जुर्माने की कार्रवाई पर तुरंत रोक लगायी जाए। पंडित अधीर कौशिक ने कहा कि जिस काम के लिए केआरएल को अनुबंधित किया गया था। उसे करने के बजाए कंपनी व्यापारियों का आम जनता का उत्पीड़न करने में लगी है। मुख्य नगर आयुक्त नरेंद्र भण्डारी ने व्यापारियों को पूरे मामले की जांच कराने, सफाई व्यवस्था को पटरी पर लाने तथा अनावश्यक रूप से चालान नहीं काटे जाने का आश्वासन दिया। ज्ञापन देने वालों में तेजप्रकाश साहू, सतीशचंद्र शर्मा, चंद्रशेखर, विशाल मूर्ति भट्ट, मनोज सिंघल, राजन कौशिक, विक्रम सिंह, राम अरोड़ा, सचिन अरोड़ा, सिद्धार्थ कौशिक, पंकज चुघ आदि सहित कई व्यापारी मौजूद रहे।