ALL political social sports other crime current religious administrative
केंद्र सरकार की नीतियों के विरोध में सीपीआईएम कार्यकर्ताओं ने दिया धरना
June 16, 2020 • Sharwan kumar jha • other

हरिद्वार। केन्द्रीय कमेटी के आह्वान पर सीपीआई (एम.) जिला कमेटी द्वारा बी.एच.ई.एल. स्थित यूनियन कार्यालय पर केन्द्र सरकार की कोरोना काल मे अपनाई जा रही नीतियों के विरोध मे धरना दिया गया। धरना स्थल पर कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुये जिला मंत्री आरसी धीमान ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा महामारी के दौर मे देश की जनता को राम भरोसे छोड़ दिया गया है। उन्होंने मांग कि गैर आयकरदाता  परिवार को 6 माह तक 7500 रूपए प्रतिमाह भुगतान किया जाए। साथ ही 6 महीने तक प्रतिमाह प्रति व्यक्ति 10 किलो अनाज मुफ्त वितरण किया जाय। मनरेगा के तहत न्यूनतम 200 दिनो का रोजगार बढी हुई मजदूरी की दर पर दिया जाय तथा प्रवासी मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराया जाए। रोजगार पैदा करने वाले सार्वजनिक उद्योगों का निजीकरण, निगमीकरण एवं विनिवेशीकरण करना बन्द किया जाए तथा मजदूर कानूनो मे किये गये संसोधन वापस लिया जाए। उन्होंने कहा कोरोना वायरस से निपटने के लिए केंद्र सरकार द्वारा अपनायी गयी गलत नीतियों से मजदूर वर्ग सर्वाधिक प्रभावित हुआ है। लाॅकडाउन करने के बाद मजदूरों को सुरक्षित वापस घर भेजने में भी सरकार पूरी तरह नाकाम सिद्ध हुई है। सरकार की नाइंतजामी की वजह से पैदल घर लौटने को मजबूर हुए मजदूरों को बेहद कठिनाईयों का सामना करना पड़ा। पैदल लौट रहे सैकड़ों मजदूरों की वाहन दुर्घटनाओं में मौत तक हो गयी। धरना देने वालों में पीडी बलोनी, आर.पी.जखमोला, इमरत सिंह, राजकुमार, एम.पी.जखमोला, आर.के बडोनी, रिजवान, मेघराज गौरहली, देवेन्द्र, किशनपाल, क्यूमखान, उदयबीर सिंह आदि मौजूद रहे।