केन्द्रीय आयुष मंत्रालय के दो सदस्यीय टीम ने किया ऋषिकुल आयुवेदिक कालेज का निरीक्षण
March 4, 2020 • Sharwan kumar jha

हरिद्वार। केंद्रीय आयुष मंत्रालय की दो सदस्यीय टीम ने ऋषिकुल आयुर्वेदिक महाविद्यालय की शिक्षण और प्रशिक्षण व्यवस्था को परखा। टीम ने परिसर निदेशक और शिक्षकों से महाविद्यालय में आयुष शिक्षा के डिजिटलाइजेशन का ब्यौरा लिया। टीम ने कहा कि वे महाविद्यालय में बेहतर व्यवस्थाओं के लिए आयुष मंत्रालय से सिफारिश करेंगे। केंद्रीय आयुष मंत्रालय की टीम बुधवार को ऋषिकुल आयुर्वेदिक कॉलेज पहुंची। टीम ने कॉलेज का निरीक्षण कर व्यवस्थाएं देखीं। टीम के सदस्य वैशाली और अभिनुज ने महाविद्यालय के परिसर निदेशक डॉ.अनूप कुमार गक्खड़ से आयुष शिक्षा प्रणाली और प्रशिक्षण प्रक्रिया की जानकारी ली। टीम ने महाविद्यालय के प्रत्येक विभाग का भ्रमण किया। इसके साथ परिसर निदेशक से महाविद्यालय में ऑनलाइन टीचिंग सिस्टम और इंटरनेट के प्रयोग के बारे में जानकारी जुटाई। टीम ने कहा कि आयुष ग्रिड को लेकर सरकार डिजिटलाइजेशन पर काफी जोर दे रही है। आयुष महाविद्यालयों को भविष्य में डिजिटल शिक्षा के लिए तैयार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अब प्रदेश के आयुष महाविद्यालयों को भी आधुनिक शिक्षा प्रणाली के ढांचे में ढलना होगा। रस शास्त्र और भेषज कल्पना विभागाध्यक्ष डॉ.खेमचंद शर्मा ने टीम को प्रत्येक शोध कार्य को भी आयुष मंत्रालय वेबसाइट पर अपलोड करने का सुझाव दिया। कहा कि इससे शोधार्थियों को काफी सुविधा होगी। टीम अब अपनी रिपोर्ट केंद्रीय आयुष मंत्रालय को सौंपेगी। टीम ने मंगलवार को पतंजलि आयुर्वेदिक महाविद्यालय का भी दौरा किया था।