ALL political social sports other crime current religious administrative
केन्द्रीय मंत्री के निधन पर अखाड़ा परिषद महामंत्री ने जताया शोक
October 9, 2020 • Sharwan kumar jha • other

हरिद्वार। केन्द्रीय मंत्री व लोकजन शक्ति पार्टी के प्रमुख राम विलास पासवान के आकस्मिक निधन पर तीर्थनगरी में भी संतो,गणमान्य लोगों ने शोक जताते हुए संवदेनाएं प्रकट की है। जूना अखाडा के अन्र्तराष्ट्रीय संरक्षक व अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के महामंत्री श्रीमहंत हरिगिरि महाराज ने केन्द्रीय मंत्री राम विलास पासवान के आकस्मिक निधन पर शोक जताते हुए कहा है कि उनके निधन से भारतीय राजनीति को गहरा धक्का लगा है,वही उन्हें भी व्यक्तिगत तौर दुःख पहुचा। राम विलास पासवान हमेशा दलितो के उत्थान,गरीबों के लिए कार्य करते रहे। उन्होने समाज के निचले तबके में हो रहे अन्याय और शोषण के खिलाफ मजबूती से आवाज उठाई। अपनी ठेठ भाषा शैली के कारण वे हमेशा सभी को अपने भाषण के दौरान आर्कषित करते रहे। काफी समय तक केन्द्र सरकार में विभिन्न मंत्रालयों में कार्य करने के दौरान हमेशा इमानदारी को आगे रखा। उन्होने कहा कि राजनीति में अपनी अलग पहचान बनाये रखने में सफल रहने वाले केन्द्रीय मंत्री राम विलास पासवान हमेशा से संतो और भारतीय संस्कृति का आदर करते रहे। उन्होने कहा कि जूना अखाड़ा से उनका विशेष लगाव रहा। अक्सर वे अखाड़े के सम्पर्क में रहते हुए विभिन्न विषयों पर संतो से सुझाव व आर्शीवाद लेते रहे। उन्होने कहा कि जब हरिद्वार से लोकसभा का चुनाव लड़ने के लिए वे यहां आये,तभी से उनका संतो से लगातार सम्पर्क बना रहा। इसके बाद जब वे केन्द्र में संचार मंत्री बने,उस दौरान भी उन्होने अपनी पार्टी में हरिद्वार में सम्मेलन आयोजित किया था,जिस दौरान उन्होने कई संतो से मिले और समाज और देश की प्रगति को लेकर चर्चा की । श्रीमहंत ने कहा कि श्री पासवान के निधन को भारतीय राजनीति के लिए गहरा झटका बताते हुए कहा कि उन्होंने हमेशा दलितांे,वंचितों के उत्थान के लिए प्रयासरत रहे। बिहार के हाजीपुर से लोकसभा का चुनाव 5 लाख से अधिक मतों से जीतने का रिकार्ड भी उन्होने ही सबसे पहले बनाया। हर व्यक्ति के जीवन में उजियारा फेलाने की उनकी ख्वाहिशें लगातार उन्हें आम लोगों के सम्पर्क में रहने के लिए प्रेरित करता रहा। जूना अखाड़ा के कई और संतो ने भी केन्द्रीय मंत्री के निधन पर गहरा दुख जताते हुए मृतात्मा को मोझ मिलने की कामना की। दूसरी ओर तीर्थनगरी के कई नेताआंे,सामाजिक कार्यकत्र्ताओं ने भी राम विलास पासवान के आकस्मिक निधन पर शोक जताया है।