ALL political social sports other crime current
कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सभी कार्यालयों को सेनेटाईज करने के निर्देश
March 16, 2020 • Sharwan kumar jha

हरिद्वार। जिलाधिकारी सी.रविशंकर ने जानकारी देते हुये बताया कि कोराना वायरस संक्रमण एक अन्तर्राष्ट्रीय जन स्वास्थ्य समस्या के रूप में परिलक्षित हो रहा है। चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा निरंतर कारोना वायरस संक्रमण की स्थिति पर निगरानी व समीक्षा की जा रही है। उत्तराखण्ड शासन द्वारा इसे महामारी घोषित कर दिया गया है तथा इससे बचाव के लिए प्रदेश में उत्तराखण्ड महामारी रोग अधिनियम नियंत्रण कोविड-19-2020 लागू कर दिया गया है। कोरोना वायरस की रोकथाम व इसके संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए राजकीय एवं निजी कार्यालयों व अन्य कार्यस्थलों की व्यवस्था के लिए जिलाधिकारी ने निर्देशित किया है कि प्रत्येक कार्यालय पटल पर सेनेटराइजर रखा जाए तथा कर्मचारी सेनेटराइजर का उपयोग किये बिना कार्यालय मे प्रवेश न करें। सेनेटराइजर का उपयोग करने के लिए गेट के बाहर भी सूचना प्रदर्शित करे। कलेक्ट्रेट के मुख्य गेट पर शिकायत प्रकोष्ठ बनाते हुये वहां पर शिकायत पेटिका लगाये। शिकायतकर्ताओं द्वारा अपनी शिकायत लिखित रूप में शिकायत पेटिका मे रखी जाए और ध्यान रखा जाए कि शिकायतकर्ता हाथों को सेनेटराइजर का उपयोग किये बिना कक्ष मे प्रवेश न करे। शिकायत पेटिका में आने वाली शिकायतों को प्रतिदिन सांयकाल संबंधित विभागों को प्रेषित करेें। जिलाधिकारी ने जनपद के अधिकारियो का निर्देशित किया कि कार्यालयों को साफ और स्वच्छ रखें। कार्यालयों में बैठको या समारोह का आयोजन स्थगित करें। खांसी, जुकाम व सांस लेने मे तकलीफ के लक्षण वाले कर्मचारियों का कार्यालय में न आने दिया जाए। सम्भव हो कर्मचारी को घर से काम करने की अनुमति दी जाए। कार्यालय के सभी वाशरूम मे साबुन, हैण्डवाश और सैनीटाइजर रखें। कार्यालय मे बार बार स्पर्श की गयी सभी सतहो दरवाजे कुण्डे व अन्य स्थानों पर नियमित सफाईं व सैनिटाइजेशन करे। कर्मंचारियेां को किसी भी यात्रा पर भेजने से परहेज करें। जिलाधिकारी ने जन सामान्य से भी अपील की कि सामुहिक समारोह एवं भीड़ वाली जगहों पर जाने से परहेज करें। खांसते अथवा छींकते समय अपने मुंह एवं नाक को रूमाल से ढके। यदि किसी व्यक्ति में खांसी, जुकाम व बुखार के लक्षण हो तो उससे दूरी बनाते हुये सावधानी बरतें।बिना चिकित्सकीय परामर्श के दवाई ना ले तथा जानकारी के लिए हैल्पलाईन नं0104 पर सम्पर्क करें।  बुखार जुकाम खांसी या सांस लेने में दिक्कत जैसे लक्षण उत्पन्न होने पर नजदीकी चिकित्सालय में सम्पर्क करें।