कोरोना वायरस के चलते कुम्भ से जुड़े निर्माण कार्यो पर बें्रक
March 23, 2020 • Sharwan kumar jha

हरिद्वार। कोरोना वायरस के संक्रमण का असर न केवल जनजीवन पर पड़ रहा है,बल्कि कुछ महीने बाद प्रारम्भ होने वाले कुम्भ मेला के निर्माण कार्यो पर भी असर होना शुरू हो गया है।लाॅक डाउन के चलते मजदूरों के चले जाने के कारण निर्माण कार्य पूरी तरह से बंद है। जिसके कारण ने केवल घाटों का निर्माण,बल्कि हाइवे का निर्माण कार्य भी पूरी तरह से ठप्प पड़ गया है। 31मार्च तक प्रदेश में लॉक डाउन के चलते 22 मार्च से होने वाली गंग नहर बंदी को फिलहाल टाल दिया गया है जिससे कई निर्माण कार्य अधर में लटक गये हैं। 22 मार्च से कुंभ कार्यों के अंतर्गत गंग नहर पर आधा दर्जन घाटों का निर्माण कार्य शुरू होना था। इसके लिए यूपी सरकार ने 1 अप्रेल की आधी रात तक पूर्वी गंग नहर को बंद करने के आदेश जारी किये थे। लेकिन कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए किये गये लॉक डाउन ने इन होने वाले कार्यों को बुरी तरह से प्रभावित कर दिया है। गंगा बंदी के दौरान 6 महत्वपूर्ण घाटों का निर्माण कार्य शुरू किया जाना था इसके साथ नहर पर पड़ने वाले पुलों के रंग रोगन का कार्य भी होना था लेकिन अब यह तमाम कार्य अधर में लटक गये हैं। कोरोना वायरस के चलते यूपी सरकार ने गंग नहर बंदी को भी फिलहाल अगले आदेशों तक टाल दिया है। एसडीओ उपरी खंड गंगनहर विक्रांत सैनी ने बताया कि कोरोना के खौफ को देखते हुए घाट निर्माण में लगे काफी मजदूर अपने घरों को लौट गये हैं साथ ही लॉक डाउन के चलते एक स्थान पर पांच से ज्यादा लोगों के एकत्र न होने के आदेश भी जारी किये गये हैं। ऐसी सूरत में कोई भी निर्माण कार्य संभव नहीं है जिसे देखते हुए गंगा बंदी के आदेश को फिलहाल निरस्त कर दिया गया है। अब गंगनहर में जलापूर्ति पूर्व की तरह जारी रहेगी। इतना ही नही लॉक डाउन के चलते बन रहे हाईवे का कार्य भी रुक गया है। हाईवे निर्माण के साथ तेजी से तैयार हो रहे कई फ्लाईओवर के निर्माण पर भी फिलहाल ब्रेक लग गया है। यह तमाम निर्माण कार्य लॉक डाउन समाप्त होने के साथ मजदूरों के वापस लौटने पर ही शुरू हो पायेंगे।