ALL political social sports other crime current religious administrative
क्वारंटाइन केन्द्र से चिकित्सक के बाहर आने पर हंगामा,पुलिस ने कराया मामला शांत
May 30, 2020 • Sharwan kumar jha • current

हरिद्वार। एक चिकित्सक के गेस्ट हाउस से बाहर निकलने पर ज्वालापुर में लोगों ने हंगामा कर दिया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामला जाना तो उल्टा लोगों की गलती सामने आई। पुलिस ने लोगों को फटकार लगाई और दोबारा इस तरह की शिकायत न करने की हिदायत भी दी। लोगों ने चिकित्सक पर गाली गलौज करने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया था और आरोप लगाया था कि चिकित्सक क्वारंटाइन होने के बावजूद गेस्ट हाउस से बाहर निकले थे, जबकि चिकित्सक की रिपोर्ट पहले ही नेगेटिव आ चुकी थी। दरअसल दो स्वास्थ्यकर्मी की कोरोना की पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद कई चिकित्सक को क्वारंटाइन किया गया था। जिले के एक अस्पताल के सीएमएस ने एहतियात के तौर पर स्वयं ही अपने आप को सेल्फ क्वारंटाइन किया हुआ था। यह सीएमएस ज्वालापुर क्षेत्र के मंडी के गेस्ट हाउस में रुके थे। उन्होंने अपना सैंपल स्वयं दिया और रिपोर्ट नेगेटिव आई। शनिवार को चिकित्सक किसी काम से गेस्ट हाउस से बाहर आये। आरोप है कि लोगों ने इस बात पर हंगामा कर दिया। लोगों का आरोप था कि चिकित्सक क्वारंटाइन का उल्लंघन कर रहे हैं, जबकि ऐसा कुछ नहीं था। हंगामे की सूचना मिलते ही ज्वालापुर कोतवाली प्रभारी योगेश सिंह देव मौके पर पहुंचे और पुलिस ने पूरे मामले की जांच पड़ताल की। सामने आया कि चिकित्सक को किसी भी तरह की कोई बीमारी नहीं है और वो स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी के कहने पर ही गेस्ट हाउस से बाहर निकले थे। कोतवाली प्रभारी योगेश सिंह देव ने बताया कि चिकित्सक की रिपोर्ट पहले ही नेगेटिव आ चुकी है। उन्होंने किसी भी तरह का कोई उल्लंघन नहीं किया है। लोगों को समझा दिया गया है।