ALL political social sports other crime current religious administrative
लिंग परीक्षण की सूचना देने पर मिलेगी एक लाख रूपए की प्रोत्साहन राशि
August 14, 2020 • Sharwan kumar jha • administrative

हरिद्वार। जिलाधिकारी सी.रविशंकर ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा.एसके झा तथा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की उपस्थिति में प्रसव पूर्व लिंग चयन निषेध अधिनियम (पीसीपीएनडीटी) की जिला सलाहकार समिति की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में ली। बैठक में पीसीपीएनडीटी की पूर्व बैठक में दिये गये निर्देशों की समीक्षा की गयी। डीएम ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को शहरी और ग्रामीण दोनो क्षेत्रों में गर्भवती महिलाओं के पंजीकरण प्रकिया को अधिक सक्रियता व प्रभावी ढंग से किये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सरकारी चिकित्सालयों के अलावा निजी चिकित्सालयों से भी यह पंजीकरण डाटा नियमित रूप से संकलित करें और डिलीवरी होने तक माॅनिटरिंग की जाये। जिलाधिकारी हरिद्वार ने गर्भ में पल रहे बच्चे के लिंग जंाच को रोकने हेतु मुखबिर योजना की शुरूआत किये जाने को मंजूरी दी। डीएम ने बताया कि चिकित्सा केंद्रो पर अवैधानिक ढंग से होने वाले भ्रूण लिंग परीक्षण तथा गर्भपात की घटनाओं को रोकने के लिए इच्छुक और योग्य आवेदकों को इस योजना के अन्तर्गत आवेदन करना होगा। जिसमें मुखबिर, डिकाॅय महिला एवं सहायक के तौर पर चुना जायेगा। डिकाॅय गर्भवती महिला को शपथ पत्र देना होगा। मुखबिर योजना के तहत सूचना सत्य पाये जाने पर सूचनादाता और डिकाॅय महिला सहित पूरी टीम को एक लाख रूपये की धनराशि प्रोत्साहन के रूप में दी जायेगी। सूचनादाता को पचास हजार रूपये की प्रोत्साहन राशि तीन किश्तों में दी जायेगी। जिसमें पहली किश्त 25 हजार रूपये सूचना सत्य पाये जाने पर, दूसरी किश्त सक्षम न्यायालय में हाजिरी के उपरान्त तीसरी किश्त दोषियों को सजा मिलने के उपरान्त दी जायेगी। इसी प्रकार डिकाॅक गर्भवती महिला और सहायक को भी किश्तों में भुगतान किया जायेगा। ऐसे सभी सूचनादाताओं की पहचान गुप्त रखी जायेगी। इस कन्या भू्रण हत्या के सम्बंध में गोपनीय जानकारी के लिए कंट्रोल रूम नम्बर 01334-239072 पर सम्पर्क कर सूचना दी जा सकती है।