माॅस्क,हैंडसेनेटाइजर की कालाबाजरी पर ड्रग इंस्पेक्टर का मेडिकल स्टोर पर छापा
March 21, 2020 • Sharwan kumar jha

हरिद्वार। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा सर्तकता बरतने तथा माॅस्क एवं हैंड सेनेटाइजर के प्रयोग करने के बाद कालाबाजारी की सूचनाओं के बाद प्रशासन भी हरकत में आ गया है। कालाबाजारी एवं जमाखोरी की सूचना के बाद शनिवार को ड्रग इंस्पेक्टर अनिता भारती ने मास्क और हैंड सेनेटाइजर की कालाबाजारी और जमाखोरी को लेकर मेडिकल स्टोरों में छापेमारी की। हालांकि अधिकांश मेडिकल स्टोर संचालक एमआरपी से कम दाम पर मास्क और हैंड सेनेटाइजर बेच रहे थे। ड्रग इंस्पेक्टर ने भारत सरकार द्वारा निर्धारित दाम पर ही मास्क और सेनेटाइजर बेचने के निर्देश दिए। शनिवार को ड्रग इंस्पेक्टर ने हरिद्वार के ज्वालापुर और रानीपुर मोड़ पर छापेमारी अभियान चलाया। ज्वालापुर में ड्रग इंस्पेक्टर को दो क्लीनिक में दवाएं मिलीं। दोनों चिकित्सक स्वास्थ्य विभाग मे पंजीकृत थे। लेकिन ड्रग इंस्पेक्टर ने दोनों चिकित्सकों को क्लीनिक में फार्मासिस्ट रखने के निर्देश दिए। इसके बाद ड्रग इंस्पेक्टर अनिता भारती ने ज्वालापुर मेन रोड पर मेडिकल स्टोरों में छापेमारी की। मेडिकल स्टोर एमआरपी से कम पर मास्क और हैंड सेनेटाइजर बेच रहे थे। यहां से ड्रग इंस्पेक्टर सीधा रानीपुर मोड़ की ओर निकलीं। रानीपुर मोड़ पर ड्रग इंस्पेक्टर ने सभी प्रमुख मेडिकल स्टोर का औचक निरीक्षण किया। साथ ही ग्राहकों से भी दामों की जानकारी जुटाई। उन्होंने सभी मेडिकल स्टोर संचालकों को भारत सरकार द्वारा निर्धारित दामों पर मास्क और सेनेटाइजर बेचने के निर्देश दिए। वहीं कालाबाजारी और जमाखोरी की शिकायत पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी भी दी।