ALL political social sports other crime current religious administrative
मादक पदार्थों की तस्करी में गिरफ्तार आरोपी से निर्मल अखाड़े से कोई संबंध नहीं-महंत जसविन्दर सिंह
May 10, 2020 • Sharwan kumar jha • religious

हरिद्वार। श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल के कोठारी महंत जसविन्दर सिंह महाराज ने पंजाब के लुधियाना में हेरोइन तस्करी में गिरफ्तार हुए कथित डेरा मुखी का श्री निर्मल पंचायती अखाड़े से संबंध जोड़े जाने पर कड़ी आपत्ति जतायी है। कनखल स्थित श्री निर्मल पंचायती अखाड़े में शनिवार को पत्रकारों को जानकारी देते हुए कोठारी महंत जसविन्दर सिंह महाराज ने कहा कि लुधियाना में पुलिस द्वारा हेरोइन तस्करी में एक कथित डेरा मुखी भगवान सिंह को गिरफ्तार किया गया है। जिसे निर्मल अखाड़े से संबंधित बताया जा रहा है। जबकि नशे कारोबार में लिप्त कथित गिरफ्तार किए गए कथित डेरा मुखी भगवान सिंह का श्री निर्मल पंचायती अखाड़े से कोई संबंध नहीं है। महंत जसविन्दर सिंह महाराज ने कहा कि पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया भगवान सिंह संत नहीं है। संत का चोला धारण कर समाज को भ्रमित करने वाला भगवान सिंह श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल पर कब्जा करने के प्रयास करने वाले गुट से संबंधित है। पिछले दिनों हरिद्वार में कनखल स्थित अखाड़े व अखाड़े की एक्कड़ कलां शाखा तथा निर्मला छावनी पर अवैध रूप से कब्जा करने के जो प्रयास किए गए थे। उसमें भी भगवान सिंह सक्रिय रूप से शामिल रहा है। ऐसे में उसे श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल से जोड़ा जाना पूरी तरह गलत है। इससे अखाड़े की छवि धूमिल होने के साथ संतों की मान मर्यादा को भी ठेस पहुंची है। उन्होंने कहा कि पंजाब पुलिस को भी इस तथ्य से अवगत करा दिया गया है। महंत अमनदीप ंिसह महाराज व सतनाम सिंह महाराज ने कहा कि संत के चोले में मादक पदार्थों की तस्करी जैसी आपराधिक गतिविधियां संचालित करने वालों का अखाड़े से कोई लेना देना नहीं है। इस दौरान महंत खेमसिंह, संत सुखमन ंिसह, संत निर्मल सिंह, संत झण्डा सिंह, संत रामस्वरूप सिंह आदि सहित सभी संतों ने एक असामाजिक तत्व का संबंध अखाड़े से जोड़े जाने की कड़े शब्दों में निंदा की।