ALL political social sports other crime current religious administrative
माता-पिता के प्रति आस्था व निष्ठा से मिलती है सद्बुद्वि
August 25, 2020 • Sharwan kumar jha • religious

हरिद्वार। निर्मल गणपति संघ द्वारा आयोजित गणपति महोत्सव में तृतीय दिवस पर भागवताचार्य रवि देव महाराज ने संघ के समस्त सदस्यों को आशीर्वाद दिया। भगवान गजानंद की पूजा-अर्चना की व आरती वंदना की । उन्होंने आशीष बचन देते हुए कहा कि जिस प्रकार भगवान गणेश ने सब देवताओं और अपने बड़े भाई भगवान कार्तिकेय के माध्यम से संसार को ज्ञान का संदेश दिया कि माता-पिता के प्रति अपनी निष्ठा, आस्था और उनके आशीर्वाद से सद्बुद्धि और समृद्धि मिलती है। उन्हांेने कहा कि त्रिभुवन के स्वामी भगवान शंकर और जगत जननी मां पार्वती की परिक्रमा की। जिसके कारण उन्हें त्रिभुवन का आशीर्वाद मिला है उसी दिन से ही भगवान गणपति सब देवों में सर्वप्रथम पूजे जाने लगे। इस कथा को बताते हुए उन्होंने गणपति संघ के सदस्यों एवं गणपति भक्तों, मातृशक्ति से आवाह्न किया कि हमें अपने माता-पिता की सेवा करनी चाहिए। क्योंकि प्रत्यक्ष रूप में ये देवता समान होते हैं। स्वामी जी के साथ में आए गरीब दास आश्रम के प्रबंधक लोकनाथ सुविधि का माल्यार्पण भव्य स्वागत किया गया। स्वामी जी ने अपने संबोधन में यह भी कहा कि इस वर्ष बहुत ही सादगी और सूक्ष्म रूप से कोरोना महामारी को देखते हुए संघ की ओर से इतना सादगी भरा कार्यक्रम करके शासन और प्रशासन के निर्देशों का भी पालन किया है यह सभी धन्यवाद के पात्र हैं। इसी श्रंृखला में गणपति संघ के सभी साथियों संयोजक रमेशचंद जोशी, नरेश शर्मा, अनिल अरोड़ा, संघ के अध्यक्ष राजू मनोचा, कार्यवाहक अध्यक्ष जॉनी अरोड़ा, उपाध्यक्ष अरविंद अग्रवाल, महामंत्री नीरज जैन, सुनील मनोचा, संजय तनेजा, सोहन सिंह, मोहन सिंह, राहुल कुछल एवं मातृशक्ति के रूप में आरती, बीना भाटिया, शशि शर्मा, विमला देवी, उषा चड्ढा, ऋतु जोशी, पूजा मनोचा, ममता, प्रेरणा, काजल, सुषमा तनेजा एवं सोनिया तनेजा ने भगवान की पूजा-अर्चना की।