ALL political social sports other crime current religious administrative
महंगाई भत्ते पर रोक लगाने पर जताया विरोध,निर्णय पर पुर्नविचार की मांग
April 28, 2020 • Sharwan kumar jha • current

हरिद्वार। प्रदेश सरकार द्वारा जून 2021 तक कर्मचारियों के महंगाई भत्ते पर रोक लगाने सम्बन्धी आदेश का चतुर्थ श्रेणी राज्य कर्मचारी संघ (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) ने स्वास्थ्यकर्मियों के महंगाई भत्ते पर रोक लगाने पर कड़ा विरोध जताया है। संगठन के प्रदेश महामंत्री दिनेश लखेड़ा ने बताया कि स्वास्थ्यकर्मी कोरोना महामारी से निपटने के लिए अपनी जान खतरा का उठाते हुए मरीजों की सेवा जुटे हैं। ऐसे समय में सरकार के इस कदम से स्वास्थ्यकर्मियों का मनोबल टूटेगा। मंगलवार को चतुर्थ श्रेणी राज्य कर्मचारी संघ (चिकित्सा एवं स्वास्थ्य) के प्रदेश महामंत्री दिनेश लखेड़ा ने कहा कि स्वास्थ्यकर्मियों का महंगाई भत्ता एक वर्ष के लिए फ्रीज करने को लेकर हर स्तर पर सरकार का विरोध किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अतिआवश्यक सेवाओं से जुड़े कर्मचारियों को आदेश से बाहर रखा जाना चाहिए था। लेकिन सरकार ने बेहद जल्दबाजी में यह निर्णय लिया। लखेड़ा ने कहा कि इस निर्णय से एक वर्ष के बीच सेवानिवृत्त होने वाले स्वास्थ्यकर्मियों को पेंशन में आर्थिक नुकसान उठाना पड़ेगा। उन्होंने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से निर्णय पर पुनर्विचार की मांग की।