ALL political social sports other crime current religious administrative
मंगा भांजा ने मिलकर ट्रैक्टर चोरियों को दिया अंजाम,पुलिस ने तीन दबोचे
August 21, 2020 • Sharwan kumar jha • crime

हरिद्वार,। थाना पथरी पुलिस ने क्षेत्र के घिस्सुपुरा से ट्रैक्टर-ट्रॉली चोरी करने के मामले में मामा-भांजा समेत तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। इस मामलें में सीओ लक्सर राजन सिंह ने शुक्रवार को पथरी थाने में पूरे मामले का पर्दाफाश किया। पुलिस के मुताबिक घिस्सुपुरा निवासी अमीर अहमद ने अपना ट्रैक्टर-ट्रॉली गांव के बाहर आम के बाग में खड़ी की थी। रात को चोरों ने ट्रैक्टर-ट्रॉली चोरी कर ली थी। अमीर की तहरीर पर पुलिस ने केस दर्ज कर चोरों की तलाश में जुट गई थीं। पथरी थानाध्यक्ष सुखपाल मान के नेतृत्व में पुलिस टीम ने सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाली। टीम ने लक्सर से बालावाली जाने वाले मार्ग से तीन आरोपितों को ट्रैक्टर के साथ गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उन्होंने अपने नाम गुलजार निवासी बसेड़ी खादर, जुल्फिकार निवासी घिस्सुपुरा और तनवीर निवासी बसेड़ी खादर लक्सर हरिद्वार बताया। आरोपितों ने ट्रैक्टर-ट्रॉली चोरी करने की बात कुबूल की। उनकी निशानदेही पर पुलिस ने नजीबाबाद के कबाड़ी अमन के गोदाम से ट्रॉली का लोहा और रिम बरामद कर लिए। पथरी थाने में पत्रकारों से बातचीत में सीओ लक्सर राजन सिंह ने बताया कि बसेड़ी निवासी जुल्फिकार घिस्सुपुरा निवासी गुलजार का मामा है। भांजे गुलजार ने ही ट्रैक्टर-ट्रॉली चोरी की योजना मामा को बताई। जुल्फिकार साथी तनवीर को लेकर घिस्सुपुरा पहुंचा और चोरी को अंजाम दिया। इतना ही नही ट्रैक्टर-ट्रॉली चोरी करने के बाद आरोपितों ने नजीबाबाद के कबाड़ी को बकायदा शपथ पत्र पर ट्रॉली के पुर्जे बेचे। उन्होंने शपथ पत्र में झूठ बोला कि ट्रॉली उनकी है। दरअसल कबाड़ी ने बिना शपथ माल खरीदने से मना कर दिया था। चूंकि कबाड़ी ने पुलिस को सबकुछ सच बताया और शपथ पत्र सहित माल भी बरामद करा दिया। इसलिए पुलिस ने शपथ पत्र को जांच का हिस्सा बनाया है। पथरी थानाध्यक्ष सुखपाल मान ने बताया कि तीनों के खिलाफ पहले भी चोरी के मामले दर्ज हैं। गुलजार के खिलाफ पोक्सो एक्ट का मुकदमा भी दर्ज चला आ रहा है। आरोपियों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में थाना अध्यक्ष सुखपाल सिंह मान, एसआई उमेश कुमार, एसआई गजेंद्र सिंह रावत, एसआई वीरेंद्र सिंह नेगी, कांस्टेबल संतोष, सुखविन्द्र, दौलत, मदनपाल, दिनेश, सौदीश कुमार आदि शामिल रहे।