ALL political social sports other crime current religious administrative
मंगलौर से 1146प्रवासियों को लेकर पहुची श्रमिक स्पेशल,485 को किया बिहार के लिए रवाना
June 4, 2020 • Sharwan kumar jha • current

हरिद्वार। प्रवासियों को श्रमिक टेªनों के जरिये लाने के अभियान में कुछ दिनों तक विराम के बाद गुरूवार को फिर श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन शुरू हो गया है। कुछ दिनों के बाद गुरुवार को सुबह. श्रमिक स्पेशल टेªन मंगलौर कर्नाटक से 1146 प्रवासियों को लेकर हरिद्वार पहुंची। इनमें हरिद्वार, उत्तरकाशी, चमोली और रुद्रप्रयाग के 253 प्रवासियों को छोड़ बाकी जनपदों के प्रवासियों को रोडवेज बसों से उनके गृह जनपद भेज दिया गया। ट्रेन में पुणे महाराष्ट्र से उत्तरकाशी के 65 प्रवासी भी पहुंचे थे। इनमें से 41 प्रवासियों को रोडवेज बस से बहादराबाद क्षेत्र के होटल ड्रीमलैंड में संस्थागत क्वरंटाइन के लिए भेजा गया। सुबह सात बजे प्रवासी होटल पहुंच गए, लेकिन इन्हें होटल में घुसने नहीं दिया गया। प्रवासियों में महिलाओं और बच्चे भी शामिल थे। इस पर प्रवासियों ने हंगामा शुरू कर दिया। हंगामे की सूचना पर पुलिस के अलावा कानूनगो संदीप सैनी मौके पर पहुंचे और मामले की जानकारी ली। होटल संचालक की ओर से बताया गया कि होटल से बुधवार रात कुछ प्रवासियों को घर भेजा गया। होटल सेनिटाइज न होने के चलते इन्हें घुसने से रोका गया। बाद में सबको रोडवेज बस से दोपहर सवा ग्यारह बजे शांतिकुंज क्षेत्र के होटल कीर्ति हैरिटेज में रखा गया। मंगलौर कर्नाटक से गुरुवार सुबह पहुंची श्रमिक स्पेशल में महाराष्ट्र से आए 41 प्रवासियों को समस्याओं से दोचार होना पड़ा। बहादराबाद क्षेत्र के होटल संचालक ने प्रवासियों को रखने से मना कर दिया। करीब तीन घंटे प्रवासी भूखे-प्यासे सड़क पर खड़े रहे। प्रवासियों के हंगामे की सूचना पर कानूनगो संदीप सैनी मौके पर पहुंचे और उन्हें समझा-बुझाकर शांत कराया। बाद में करीब 11 बजे सभी को बस से शांतिकुंज के पास एक होटल में संस्थागत क्वरंटाइन में रखा गया। वही उपजिलाधिकारी कुश्म चैहान का कहना है कि प्रवासियों को होटल में जाने से रोकने के मामले को गंभीरता से लिया गया है। पूरे मामले की जांच की जा रही है। होटल ड्रीमलैंड के संचालक को नोटिस जारी किया जाएगा। दूसरी ओर देहरादून से बिहार के बरौनी के लिए रवाना होकर श्रमिक स्पेशल ट्रेन दोपहर सवा दो बजे हरिद्वार रेलवे स्टेशन पर पहुंची। यहां छह कोच जोड़कर 485 लोगों को बैठाकर ट्रेन को करीब पौने चार बजे रवाना कर दिया गया। इस दौरान अपर जिलाधिकारी केके मिश्रा, जीआरपी एएसपी मनोज कत्याल, सिटी मजिस्ट्रेट जगदीश लाल, आरपीएफ निरीक्षक प्रदीप कुमार, सीएचआई जितेंद्र कुमार मीणा, विजेंद्र सिंह चैहान, सीपीएस सुमित सक्सेना आदि मौजूद रहे।