ALL political social sports other crime current religious administrative
मंत्री प्रतिनिधि पर हमला करने वाले आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज
July 15, 2020 • Sharwan kumar jha • crime

हरिद्वार। कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक के प्रतिनिधि किशन पर हमला करने के आरोपितों पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। हमलावरों पर भाजपा नेता के नाबालिग बेटे के साथ अश्लील हरकत करने का आरोप भी लगा है। इसलिए पुलिस ने मुकदमे में पोक्सो एक्ट की धारा भी लगाई है। कैबिनेट मंत्री के प्रतिनिधि किशन बजाज तीन दिन पहले खन्नानगर स्थित भाई के घर से बेटे को साथ लेकर घर कुशावर्त घाट लौट रहे थे। आरोप है कि विष्णु घाट के पास वासु शर्मा निवासी निबू घेर, सागर नैथानी निवासी हाथी थाना, श्रेय शास्त्री निवासी राम घाट और सार्थक कोठियाल निवासी छोटी जोगीवाला हरिद्वार आ धमके और रास्ता रोककर गाली-गलौच शुरू कर दी। विरोध करने पर उन्होंने किशन बजाज के सिर पर किसी भारी चीज से हमला कर दिया। जिससे वह लहुलुहान हो गए। तहरीर में आरोप लगाया गया है कि हमलावरों ने उनके नाबालिग बेटे को स्कूटी से उतारा और गली में ले जाकर उसके साथ अश्लील हरकत करने का प्रयास किया। बमुश्किल भाजपा नेता ने अपने बेटे को छुड़ाया। बेटे की सूचना पर कुछ लोगों ने किशन बजाज को हमलावरों से छुड़ाया। हमले में किशन बजाज के सिर में गंभीर चोट आई हैं। उन्हें एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस मामले में पुलिस ने आरोपित वासु शर्मा, सागर नैथानी, श्रेय शास्त्री व सार्थक कोठियाल के खिलाफ मारपीट, गाली-गलौच पोक्सो एक्ट की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। इस मामले की जांच एसएसआई नंद किशोर ग्वाड़ी को सौंपी गई है। शहर कोतवाल अमरजीत सिंह ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू करने के साथ ही आरोपितों की तलाश की जा रही है। दूसरी ओर किशन बजाज की तहरीर पर मुकदमा दर्ज होने के बाद आरोपितों के परिवार वाले भी अलग-अलग तहरीर लेकर शहर कोतवाली पहुंचे। उन्होंने किशन बजाज पर अलग-अलग मुकदमें दर्ज करने की मांग की। शहर कोतवाल अमरजीत सिंह ने उन्हें समझाते हुए कहा कि एक घटना में एक ही तहरीर दी जाए। उसी में सब लोग अपनी बात रख सकते हैं। इस बात को लेकर हंगामा हुआ। बाद में परिवार वाले एसएसपी से मिलने की बात कहकर वापस लौट गए। हालांकि बाद में नामजद आरोपित सागर नैथानी के पिता सतीश नैथानी और वासु शर्मा के पिता अरुण शर्मा की ओर से सयुंक्त तहरीर दी गई। जिसमें उन्होंने बताया कि 12 जुलाई की रात पुलिस उनके घर पहुंची और कोतवाली बुलाया। आरोप लगाया कि कोतवाली जाने के दौरान अर्जुन, मुकुल कश्यप, दीपक टंडन, माधव आदि ने लाठी-डंडे व तलवारों के बल पर उन्हें रोक लिया और गाली-गलौच व मारपीट करते हुए जान से मारने की धमकी दी। कोतवाली प्रभारी अमरजीत सिंह ने बताया कि तहरीर पर जांच की जा रही है।