ALL political social sports other crime current religious administrative
मिशन के संत निस्वार्थ भाव से नर सेवा नारायण सेवा में लगे रहते है-’श्रीमहंत रविन्द्रपुरी जी महाराज
May 17, 2020 • Sharwan kumar jha • social

हरिद्वार। कोरोना संक्रमण कोविड-19 के संकट के दौरान रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम कनखल में  पिछले 47 दिन में दो चरणों में हरिद्वार और उसके आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में करीब बहत्तर सौ      जरूरतमंद परिवारों को खाद्यान्न वितरित किया गया। रविवार को रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम के विवेकानंद प्रतिमा परिसर के पास खाद्यान्न वितरण का दूसरा चरण समाप्त हुआ। इस अवसर पर प्रार्थना सभा भी की गई। इस दौरान 200 जरूरतमंद परिवारों को खाद्यान्न वितरित किया गया। मुख्य अतिथि महंत रवींद्र पुरी महाराज और मिशन के संतों ने एम्स के चिकित्सकों को शॉल ओढ़ा कर सम्मानित किया। इस मौके पर मुख्य अतिथि के रुप में बोलते हुए श्री पंचायती निरंजनी अखाड़ा के सचिव और श्री मनसा देवी मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत रवींद्र पुरी महाराज ने कहा कि मिशन के संत और चिकित्सक तथा नर्सिंग स्टाफ से जुड़े लोगों ने झुग्गी झोपड़ियों में जाकर जरूरतमंद परिवारों को खाद्यान्न पहुंचाया मिशन के संतो की मानव सेवा अनुकरणीय है और वे निस्वार्थ भाव से नर सेवा नारायण सेवा के कार्य में लगे रहते हैं। श्रीमहंत रविंद्रपुरी महाराज द्वारा ट्रस्ट को पांच लाख इक्यावन हजार रुपए की धनराशि भेंट की गयी। इस अवसर पर स्वामी नित्याशुद्धानंद महाराज ने फूलमाला पहनाकर व शाॅल ओढ़ाकर तथा स्वामी विवेकांनद का चित्र भेंटकर श्रीमहंत रविंद्रपुरी महाराज को सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि मिशन जहां चिकित्सा के क्षेत्र में हरिद्वार और आसपास के जिलों के लोगों को सुलभ और सस्ती चिकित्सा सेवा उपलब्ध करा रहा है वही कोरोना जैसे राष्ट्रीय संकट के समय मिशन के संतों ने संत धर्म के साथ-साथ राष्ट्रधर्म का भी पालन किया जो काबिले तारीफ है। मिशन के सचिव स्वामी नित्यशुद्धानंद महाराज ने कहा कि मिशन ने करीब 36 हजार लोगों तक सुबह का नाश्ता और दो समय का भोजन पहुंचाने का मानवीय कार्य किया मिशन कभी भी राष्ट्र संकट के समय अपना कर्तव्य निभाने से पीछे नहीं हटा है। कार्यक्रम का संचालन करते हुए मुख्य संयोजक स्वामी दयाधिपानंद महाराज (डॉ शिवकुमार) ने कहा कि हरिद्वार के संतों ने इस समय राष्ट्र संकट की घड़ी में मानव सेवा के अपने दायित्व को निभाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है। एम्स ऋषिकेश के वरिष्ठ चिकित्सक डॉ विजेंद्र सिंह और डॉक्टर एसपी अग्रवाल ने लोगों से कोरोना वायरस से ना डरने की अपील करते हुए कहा कि हमें इस संक्रमण से बचने के लिए सामाजिक दूरी बनाए रखने ,मास्क लगाने और लगातार साबुन से हाथ धोने की प्रक्रिया को अपने जीवन में अपनाना चाहिए उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस के 98 फीसद मरीज ठीक हो रहे है।ं इसलिए कोरोना संक्रमित लोगों से हमें भय नहीं करना चाहिए उनसे मानवीय व्यवहार करना चाहिए। इस अवसर पर स्वामी उमेश्वरानंद मंजू महाराज, कार्यक्रम के मुख्य संयोजक स्वामी दयाधिपानंद महाराज (डॉ शिवकुमार), स्वामी जगदीश महाराज, वरिष्ठ चिकित्सक डॉक्टर समरजीत चैधरी, एम्स ऋषिकेश के वरिष्ठ चिकित्सक डॉ राधेश्याम मित्तल ,श्री मनसा देवी मंदिर ट्रस्ट के मुख्य ट्रस्टी पंडित प्रदीप शर्मा ,बीइंग भागीरथी के संयोजक शिखर पालीवाल समेत मिशन के अन्य साधु संत, चिकित्सक ,नर्सिंग स्टाफ तथा अन्य लोग उपस्थित थे। मिशन के ब्रह्मचारी सरोज ,कार्यकर्ता गोकुल सिंह, अमरजीत सिंह, किशन ,जनार्दन आदि ने कार्यक्रम को सफल बनाने में सहयोग दिया।