ALL political social sports other crime current religious administrative
फोटो समाज के मार्मिक भाव को दर्शाने का सबसे अच्छा माध्यम-रावत
August 19, 2020 • Sharwan kumar jha • other

हरिद्वार। विश्व फोटोग्राफी दिवस के अवसर पर आउटडोर फोटोग्राफर मंच और हरिद्वार फोटोग्राफर एसोसिएशन दोनों संगठनों ने आपसी सौहार्द का परिचय देते हुए संयुक्त रूप से गुरु निवास मन्दिर आश्रम कनखल में आयोजन कर विश्व फोटोग्राफर दिवस मनाया व दिव्यांग शिवकुमार फोटोग्राफर को सम्मानित करते हुए माल्यार्पण किया गया तथा विश्व फोटोग्राफर दिवस के महत्व पर प्रकाश डाला गया। इस अवसर पर फोटोग्राफर मंच के संयोजक भीमसेन रावत ने कैमरे के ऊपर अपनी एक काव्य रचना सुनाते हुए कहा कि फोटो ऐसा माध्यम है जो कि समाज को मार्मिक भाव दर्शाने का सबसे अच्छा माध्यम है। एक फोटो सभी कहानियांे को दर्शा देता है। उन्होंने कहा कि फोटोग्राफर की बौद्धिक क्षमताओं पर ही निर्भर करता है कि वह समाज को फोटो के माध्यम से क्या दर्शाना चाहता है। उत्तराखण्ड की नैर्सिंगक सुन्दरता को दर्शाने में फोटोग्राफर की निर्णायक भूमिका है। भीमसेन रावत ने कहा कि कोरोना काल में फोटोग्राफर आर्थिक परेशानियों से जूझ रहे हैं। सांस्कृतिक कार्यक्रम, विवाह समारोह, जन्मदिन पार्टियां सूक्ष्म रूप से आयोजित की जा रही है। जिन कारणों से फोटोग्राफर आर्थिक रूप से परेशान है। उन्होंने सरकार से अपील की कि सरकार को फोटोग्राफर व्यवसायियों को आर्थिक मदद देनी चाहिए। हरिद्वार फोटोग्राफर एसोसिएशन के अध्यक्ष ललित ममगाई ने वर्तमान हालातों में फोटोग्राफर से धैर्य बनाकर चलने की बात कही। इस अवसर पर मुख्य रूप से हरिद्वार फोटोग्राफर एसोसिएशन के अध्यक्ष ललित ममगाई, सह सचिव मुकेश सहगल, फोटोग्राफर मंच के संयोजक भीमसेन रावत, नवीन भारद्वाज, शिव कुमार, मुकेश शर्मा, अशोक कुमार आदि उपस्थित रहे।