ALL political social sports other crime current
प्रमुख वन संरक्षक जयराज ने ग्रामीणों की समस्याएं सुनीं
March 11, 2020 • Sharwan kumar jha

हरिद्वार। गेंड़ीखाता स्थित वन गुर्जरबस्ती में बुधवार को इको विकास समिति द्वारा आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे प्रमुख वन संरक्षक जयराज ने ग्रामीणों की समस्याएं सुनीं। कार्यक्रम में उनकी पत्नी साधना जयराज भी मौजूद रहीं। कार्यक्रम में वन गुर्जरों ने मुदगड प्रतियोगिता और बैत गीत गाकर अतिथियों का स्वागत किया। प्रमुख वन संरक्षक जयराज ने वन गुर्जरों को आश्वास्त किया कि उनकी समस्याओं का समाधान प्राथमिकता में है। मूलभूत सुविधाओं के साथ साथ स्वरोजगार भी उपलब्ध कराने की पहल की जाएगी। इसमें इको विकास समिति के जरिये इच्छुक लोगों को होम स्टे योजना से जोड़ा जाएगा। वहीं, गैर सरकारी संगठनों के माध्यम से शौचालय आदि का निर्माण कराया जाएगा। कहा कि प्रदेश के शतप्रतिशत वन गुर्जर परिवारों को विस्थापित कर विकास की मुख्य धारा से जोड़ने की योजना है। इसके लिए वन गुर्जर परिवारों को भी शासन प्रशासन का सहयोग करना होगा। इसमें आज गुर्जरबस्ती में आवंटित भूखंडों पर 100 से ज्यादा परिवार विस्थापित नहीं हुए हैं। जिसके लिए ग्रामीण प्रयास करें, ताकि आगे की कार्रवाई की जा सके। इसके अलावा बांस की नर्सरी का भी विकास किया जा रहा है। इससे पहले कार्यक्रम में इको विकास समिति के अध्यक्ष आजाद चेची ने वन गुर्जरबस्ती से संबंधित समस्याओं का 12 सूत्रीय मांग पत्र प्रमुख वन संरक्षक को सौंपा। इसमें मूल रूप से पेयजलापूर्ति, 400 शौचालय, 800 कैटल शैड, संपर्क मार्गों का पक्कीकरण, आवंटित भूखंडों के समतलीकरण, गुर्जरबस्ती को राजस्व ग्राम घोषित करने, वन क्षेत्रों में स्थित कब्रिस्तानों में जियारत की अनुमति सहित पर्यटन में युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने की मांग है। शमशेर भड़ाना ने कहा कि वन क्षेत्र में रह रहे परिवारों को हक हकूक से वंचित न किया जाए। विस्थापित किये जाने तक घास, पूस, पशु चारा पत्ती आदि की छूट दी जानी चाहिए।राजाजी टाइगर रिजर्व के निदेशक पीके पात्रों ने बताया कि गुर्जरबस्ती के विकास को मांग के अनुरूप बजट का अभाव है। कार्यक्रम में सफी लोधा, रोशनदीन, अमजू, इरशाद भड़ाना, यामीन, अमीर हमजा, बाबू खटाणा, आलम, गनी, मुहम्द अली, लियाकत, जाकिर हुसैन सहित वन क्षेत्राधिकारी गुर्जरबस्ती अनुराग शर्मा, डीएफओ लैंसडाउन राजीव धीमान, वन्यजीव प्रतिपाल कोमल सिह आदि उपस्थित रहे।