पुलिस ने आशारानी हत्याकाण्ड का खुलासा करते हुए हत्यारोपी को किया गिरफ्तार
March 20, 2020 • Sharwan kumar jha

किरायेदार के तौर पर रह चुके आरोपी से पुलिस ने किए जेबरात बरामद

हरिद्वार। कनखल थाना क्षेत्र में करीब 35दिन पहले हुई आशारानी हत्याकाण्ड का खुलासा करते हुए पुलिस ने एक युवक को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी के पास से मृतका के जेवरात भी बरामद किए हैं। मूल रूप से अल्मोड़ा जनपद के रहने वाले आरोपी को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है।  इस मामले में थाना कनखल में पत्रकारों को जानकारी देते हुए एसएसपी सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस. ने बताया कि हत्याकाण्ड के खुलासे के लिए चार पुलिस टीमों को लगाया गया था। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने आरोपी बीरेंद्र सिंह बिष्ट उर्फ विष्णु उर्फ विशाल पुत्र स्व.जगत सिंह बिष्ट निवासी ग्राम भगोती थाना चैखुटिया अल्मोड़ा को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया। आरोपी मृतका के परिवार का पूर्व परिचत है तथा में किसी कंपनी में काम करता था। हरिद्वार में सिडकुल में काम करने के दौरान आशारानी के मकान में किराएदार के रूप में रह रहे अपने एक परिचित के साथ वह भी मकान में रहा था। मकान में रहने के कारण वह पूरे परिवार से अच्छी तरह परिचित था। पैसों की तंगी के चलते उसने हत्याकाण्ड को अंजाम दिया। आरोपी वीरेन्द्र सिंह हत्या से कुछ दिन पूर्व भी आशारानी से मिलने आया था और उसी दिन उसने आशारानी के बेटे सुमित वोहरा को फोन किया था। हत्याकाण्ड की तहकीकात में जुटी पुलिस को एक सीसीटीवी फुटेज मिला था। जिसमें हेलमेट पहने एक युवक दिखाई दे रहा था। लेकिन हेलमेट पहना होने की वजह से उसकी पहचान नहीं हो पा रही थी। हेलमेट पहने युवक की तलाश में जुटी पुलिस मृतका के परिजनों से जानकारी जुटायी। युवक की कद काठी के आधार पर परिजनों ने वीरेंद्र सिंह पर शक जताया। जिसके आधार पर पुलिस ने जांच पड़ताल की और पूरे मामले से पर्दा उठता चला गया और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। गौरतलब है कि 13 फरवरी को कनखल पहाड़ी बाजार में रहने वाली महिला आशारानी की घर में ही हत्या कर दी गयी थी। हत्याकाण्ड के बाद आरोपी सीसीटीवी की डीवीआर भी अपने साथ ले गया था। जिससे पुलिस के लिए हत्याकाण्ड का खुलासा करना चुनौती बन गया था। आरोपी को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में थाना अध्यक्ष विकास भारद्वाज, एसआई आनंद मेहरा, चंद्रमोहन सिंह, अनिता शर्मा, संदीप चैहान, लाखन सिंह, कांस्टेबल रणजीत सिंह, नरेंद्र कुमार, शशीबाला, मुकेश, भादूराम, महेंद्र तोमर, सुनील राणा, सलीम अहमद, बलवंत सिंह, रविन्द्र प्रसाद, दीपक चैधरी, पंकज देवली के अलावा सीआईयू प्रभारी राजीव चैहान, हेडकांस्टेबल सुन्दर सिंह, कांस्टेबल नरेंद्र सिंह, मनोज, शशीकांत आदि शामिल रहे। हत्या आरोपी को गिरफ्तार करने पर मृतका के परिजनों बेटे सुमित वोहरा, राजेश वोहरा, पुत्री रजनी, सोनिया व रितु ने पुलिस का आभार व्यक्त करते हुए आरोपी को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने की मांग की है।