ALL political social sports other crime current
सहकारिता मेला के छठे दिन कृषि विभाग की टीम ने दी जानकारी
February 14, 2020 • Sharwan kumar jha

हरिद्वार। सहकारिता विभाग की ओर से सहकारी व्यापार मेले के छठे दिन कृषि विभाग ओर चिकित्सक टीम के द्वारा किसानों अधिकारियों एवं कर्मचारियों को जानकारियां दी गयी। गढ़वाल मंडल के उपनिबंधक मान सिंह सैनी ने बताया की शुक्रवार को गोष्ठी में किसानों को वहीं गोष्ठी में भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड हरिद्वार से डॉक्टर रोहित सिंघल ने बताया कि स्वास्थ्य के लिए सामान्य खान पान से शरीर मे पोषक तत्वों की पूर्ति नही हो पाती है।इसलिए हमें अपने खान पान में फूड सप्लीमेंट जैसे विटामिन कार्बोहाड्रेट ,ओमेगा-3 का प्रयोग करना चहिए। वही डॉक्टर प्रियंका ने बताया कि हमारी खाघ श्रंखला आज बिगड़ चुकी है इसलिए  बीमारियां हो रही है। इसलिए बीमारियां हो रही हैं और हमारा  हमन्यू सिस्टम ही कमजोर पड़ चुका हैकृषि विभाग और डॉक्टरों द्वारा विभिन्न प्रकार की जानकारियां दी गई जिसमें कृषि विभाग से कृषि एवं भूमि संरक्षण अधिकारी रितु कुकरेती ने बताया कि केंद्र एवं राज्य सरकार से किसानों के लिए विभिन्न योजना चलाई जा रही है और किसानों की आय दोगुनी करने के लिए प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना, पोली हाउस ,राष्ट्रीय खाद सुरक्षा मिशन, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना,राष्ट्रीय संपोषणीय कृषि मिशन(नमसा योजना), राष्ट्रीय कृषि प्रसार एवं प्रौद्योगिकी मिशन, आदि योजनाओं के संबंध में जानकारियां दी गई और बताया कि किसान फसल की लागत कम करें जैसे कि उन्नत तकनीक की भी डालें वहीं सरकार द्वारा कृषि यंत्रों पर अनुदान दिया जाता है जिससे किसानों को फायदा मिल सके। इस दौरान नोडल अधिकारी अरविंद जोशी, अपर जिला सहकारी अधिकारी दान सिंह नपचायल,पंकज लता, कल्याणी, मानसी, सौरव रवि, अमित सैनी,दिनेश चैहान, सतीश कुमार ,गौरव द्विवेधी आदि लोग मौजूद रहे। दूसरे दिन अंतराज्यीय सहकारी व्यापार मेले के छठे दिन सांस्कृतिक कार्यक्रम महासू देवता की वंदना से शुरू हुआ कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सहकारिता विभाग के  उपनिबंधक मान सिंह सैनी ने बताया कि मेले में गांव देहात और शहरी लोग विभिन्न कलाकारों द्वारा लोक गीत हारूल नृत्य आदि  प्रस्तुतियों का मनोरंजन कर रहे हैं शुक्रवार शाम मेले में लोक नृत्य ,पांडव नृत्य ,एकल हिंदी नृत्य, पंजाबी रीमिक्स ,समूह हिंदी नृत्य, हिमाचली लोकगीत, परात नृत्य रात नृत्य आदि का लोगों ने देर रात तक जमकर लुफ्त उठाया।