ALL political social sports other crime current religious administrative
संकट के समय जरूरतमंदो की सेवा ही सबसे बड़ा धर्म-सतपाल ब्रहमचारी
May 3, 2020 • Sharwan kumar jha • social

हरिद्वार। भूपतवाला स्थित राधाकृष्ण धाम आश्रम द्वारा लाॅकडाउन के दौरान गरीब, असहाय, मजदूरों व जरूरतमंद परिवारों की मदद के लिए शुरू किया गया सेवा अभियान चालीसवें दिन भी निरंतर जारी रहा। आश्रम के परमाध्यक्ष पूर्व पालिका अध्यक्ष सतपाल ब्रह्मचारी महाराज के नेतृत्व में दर्जनों युवा कार्यकर्ता दिनरात गरीबों की सेवा में जुटे हैं। आश्रम में संचालित की जा रही रसोई में प्रतिदिन छह हजार भोजन पैकेट तैयार कर जरूरतंदों को वितरित किए जा रहे हैं। सतपाल ब्रह्मचारी महाराज ने कहा कि जरूरतमंदो की मानव सेवा ही परम धर्म है। 24 मार्च को लाॅकडाउन होने के बाद से ही गरीब, जरूरतमंदों को भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। चालीस दिन से सेवा का यह अभियान निरंतर जारी है। इस दौरान क्षेत्र में रहने वाले निराश्रितों, गरीब मजदूर परिवारों के साथ लाॅकडाउन होने पर राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों से वापस लौट रहे मजूदरों को भी बिना किसी भेदभाव के भोजन दिया जा रहा है। बड़े स्तर पर संचालित किए जा रहे सेवा अभियान में बाबा बंशीवाले आश्रम, म.म.स्वामी हरिचेतनानन्द महाराज, स्वामी कमलानंद, महेशपुरी, अग्रवाल ट्रस्ट, बाबा हरिदास धाम आदि विभिन्न संस्थाओं का सहयोग निरंतर मिल रहा है। जरूरमंदों की मदद के लिए जल्द ही सौ कुंतल आटा वितरित किया जाएगा। स्वामी सतपाल ब्रह्मचारी महाराज ने बताया कि आठ मई को पूज्य गुरूदेव शालिग्राम के पावन स्मृति दिवस पर 10 हजार भोजन पैकेट वितरित किए जाएंगे। नितिन यादव व आकाश भाटी ने कहा कि आश्रम के माध्यम से रोजमर्रा खिचड़ी, दाल चावल, हलवा पूरी, सब्जी रोटी आदि निराश्रितों व जरूरतमंदों को वितरित की जा रही हैं। समाजसेवी जोगेंद्र मावी ने कहा कि राधाकृष्ण धाम सेवा के प्रकल्पों को चलाकर अन्य लोगों को भी प्रेरणा दे रहा है।